scriptWEST BENGAL NEWS | WEST BENGAL-उत्साह-उमंग के साथ मनाई संक्रांति | Patrika News

WEST BENGAL-उत्साह-उमंग के साथ मनाई संक्रांति

बाबा भैरवनाथ मंदिर के सामने बांटी खिचड़ी

कोलकाता

Updated: January 15, 2022 12:56:45 pm

BENGAL NEWS-कोलकाता। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच शुक्रवार को महानगर में उमंग-उत्साह के साथ मकर संक्रांति मनाई गई।कोलकाता सहित हावड़ा, लिलुआ, हिंदमोटर, रिसड़ा आदि क्षेत्रों में पर्व उत्साह-उमंग के साथ मनाया गया। हालांकि तिथियों की गणना में मतभेद के कारण कई लोग शनिवार भी मकर संक्रांति मनाएंगे। शुक्रवार को सर्द मौसम के बावजूद बाजारों में रौनक रही। कलाकार स्ट्रीट, शिवतल्ला स्ट्रीट, हंसपोकरिया, मालापाड़ा आदि स्थानों में तिल, गुड़ पापड़ी, गजक, चिड़वा आदि से सजी दुकानों में अच्छी खरीददारी हुई। मालापाड़ा में दुकानदार पंकज द्विवेदी ने बताया कि उत्तर भारत में इस दिन दही-चिउड़ाखाने का प्रचलन है। त्यौहार के हिसाब से बिक्री ठीक ठाक रही।
उधर बड़ाबजार क्षेत्र में बड़तल्लास्ट्रीट स्थित बाबा भैरवनाथ मंदिर के सामने हर साल की ही तरह शुक्रवार कोखिचड़ी बांटी गई। कोविड प्रोटोकाल का पालन हुआ। कार्यकर्ता मनोहर श्रीमाली, राजकुमार देरासरी (सेरी महाराज), रतन सोनकर, दीपक सोनकर, हरिश भाई आदि सक्रिय रहे।-------
WEST BENGAL-उत्साह-उमंग के साथ मनाई संक्रांति
WEST BENGAL-उत्साह-उमंग के साथ मनाई संक्रांति
----मौसम पर त्यौहार भारी-
शुक्रवार को सुबह से ही छाई धुंध और सर्द मौसम के बावजूद बाजारों में रौनक रही। सक्रांति की खरीददारी के लिए निकले लोगों से बाजारों में दिनभर चहल पहल देखने को मिली। कलाकार स्ट्रीट, अफीम चौरस्ता आदि जगहों पर मिठाई दुकानों में घेवर, फिनि खरीदने लोगों की भीड़ उमड़ रही थी तो शिवतल्ला स्ट्रीट, हँसपोकरिया, मालापाड़ा आदि स्थानों में तिल, गुड़ पापड़ी, गजक, चिड़वा आदि से सजी अस्थाई दुकानों में भी अच्छी खरीददारी हुई। मालापाड़ा में एक फुटपाथ पर अस्थाई दुकानदार पंकज द्विवेदी ने बताया कि उत्तर भारत में मकर संक्रांति के दिन दही चिड़वा खाने का प्रचलन है। इस दिन लोग भोजन में इसी का उपयोग करते है। त्यौहार के हिसाब से बिक्री ठीक ठाक है।
महंगाई को दिखाया ठेंगा- चार सौ से हजार रुपये तक बिका घेवर
मकर संक्रांति पर राजस्थान की पारम्परिक मिठाई के रूप में खाया जाने वाला घेवर साढ़े तीन सौ से लेकर हजार रुपये किलो तक बिका। डालडा घी में बने घेवर जहां साढ़े तीन सौ रुपये में बिका वहीं देशी घी में बने घेवर का भाव हजार रुपये किलो तक रहा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूUP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'अलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशछत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहे कोरोना से मौत के आंकड़े, 24 घंटे में 5 मरीजों की मौत, 6153 नए संक्रमित मिले, सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दुर्ग मेंयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौती
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.