scriptWEST BENGAL NEWS | WEST BENGAL-खारकीव से नहीं मिली ट्रेन तो पैदल ही चल पड़ी दो बहनें | Patrika News

WEST BENGAL-खारकीव से नहीं मिली ट्रेन तो पैदल ही चल पड़ी दो बहनें

यूक्रेन में फंसी दुर्गापुर की बहनें रूमकी और झुमकी, बमबाजी के बीच दोनों बार्डर की ओर रवाना

कोलकाता

Published: March 04, 2022 05:15:26 am

BENGAL NEWS-कोलकाता। यूक्रेन में मेडिकल की तालीम लेने गई दुर्गापुर के रातुरिया गांव निवासी दो बहनें रूमकी और झुमकी रूसी मिसाइलों और टैंक से दागे जा रहे गोलों के चौतरफा हमले मे फस गई। उन्हे बुधवार को खारकीव से ट्रेन से हंगरी जाना था। लेकिन बम धमाकों के कारण वे ट्रेन नहीं पकड़ सकी और आखिरकार बमबाजी के बीच ही दोनों ही पैदल ही बार्डर की ओर चल दी। मोबाइल बंद होने के कारण उनका अंतिम ठिकाना कहां है यह पता नहीं चल पाया है। बुधवार की रात दोनों बहनों की अपनी माँ से बात हुई थी ।उधर बेटियों की चिंता में मां सुनंदा गांगुली और पिता धीरेन गांगुली परेशान हैं। बेटियों की घर वापसी की चिंता उन्हें सता रही है। रूमकी और झुमकी खारकीव मेडिकल कालेज मे पढ़ाई करती है। जंग शुरू होने के दूसरे दिन से ही वे बेसमेंट में थी।
WEST BENGAL-खारकीव से नहीं मिली ट्रेन तो पैदल ही चल पड़ी दो बहनें
WEST BENGAL-खारकीव से नहीं मिली ट्रेन तो पैदल ही चल पड़ी दो बहनें
स्टेशन पर दुर्वयहार

स्थानीय प्रशासन के सहयोग से भारतीय समय अनुसार बुधवार सुबह वे बेसमेंट से बाहर निकली एवं किसी स्टेशन के लिए पैदल ही रवाना हो गई। उस समय बारिश हो रही थी किसी तरह वे स्टेशन पहुंची। उस समय उन्हें बताता गया कि उन्हें हंगरी ले जाया जाएगा। स्टेशन पर जब पहुंची, वहां काफी भीड़ थी। भारी भीड़ के कारण ।वे एक एक के बाद दो ट्रेनों में सवार नहीं हो सकी। स्टेशन पर यूक्रेन निवासी अन्य देश के नागरिकों को धक्का देकर हटा रहे थे और ट्रेन मे चढने नहीँ दे रहे थे। स्टेशन पर दोनो बहनो की मुलाकात हंगरी निवासी भारतीय मूल के दीनानाथ मल्लिक से हुई । मलिक के परिचित ने फोन पर दोनो बहनों के माता पिता को स्टेशन की स्थिति से अवगत कराया और ये भी बताया कि वे पैदल ही बार्डर की ओर जा रही है।
यूक्रेन की सेना ने दी शरण

इससे पूर्व बुधवार रात दोनो बहनों की मां सुनंदा से बात हुई। सुनंदा ने बताया कि रात को यूक्रेन की सेना ने उन्हें एक जगह शरण दी । बाहर बमबाजी की आवाजें सुनाई दे रही थी। गुरुवार को मां का बेटियों से संपर्क नहीं हो पाया । दीनानाथ भी उनसे संपर्क नहीं कर पाया । उन्होंने कहा कि मोबाइल चार्ज नहीं होने से समस्या आ रही है। दोनों बेटियां कहां है, यह जानने की कोशिश की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...दिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंIPL 2022 RCB vs GT live Updates: पावर प्ले में गुजरात 2 विकेट के नुकसान पर 38 रनों पर6 साल की बच्ची बनी AIIMS की सबसे कम उम्र की ऑर्गन डोनर; 5 लोगों को दिया नया जीवनGyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में 20 मई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई को होगी सुनवाईपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.