कहां हुआ हनुमान चालीसा की तर्ज पर अमिताभ चालीसा का पाठ और उतारी बिग-बी की प्रतिमा की आरती? जानिए यहां.....

कहां हुआ हनुमान चालीसा की तर्ज पर अमिताभ चालीसा का पाठ और उतारी बिग-बी की प्रतिमा की आरती? जानिए यहां.....
कहां हुआ हनुमान चालीसा की तर्ज पर अमिताभ चालीसा का पाठ और उतारी बिग-बी की प्रतिमा की आरती? जानिए यहां.....

Shishir Sharan Rahi | Updated: 12 Oct 2019, 03:21:00 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

WEST BENGAL NEWS: BIG-B BIRTHDAY CELEBRATIONS AT KOLKATA--‘हे हरिवंश ज्ञान गुण सागर, तेजपुत्र अमिताभ है नामा’., कोलकाता में अनोखे अंदाज में मनाया बिग-बी का जन्म दिन, बिग-बी की प्रतिमा की उतारी आरती, हनुमान चालीसा की तर्ज पर हुआ अमिताभ चालीसा का पाठ, अमिताभ बच्चन टेम्पल-कम-म्यूजियम में स्थापित बिग-बी की प्रतिमा की उतारी आरती, प्रवासी राजस्थानी पाटोदिया के नेतृत्व में ऑल बंगाल अमिताभ बच्चन फैंस एसोसिएशन का आयोजन

कोलकाता(शिशिर शरण राही) . सदी के महानायक SUPER STAR AMITABH BACHCHAN अमिताभ बच्चन (BIG-B) को भगवान मानने वाले ऑल बंगाल अमिताभ बच्चन फैंस एसोसिएशन क्लब, कोलकाता (एबीएफए कोलकाता) ने शुक्रवार को अपने चहेते कलाकार का 77वां जन्म दिन यहां अनोखे अंदाज में उमंग-उत्साह से मनाया। कोलकाता में मौजूद न केवल बंगाल बल्कि पूरे देश में बिग-बी के एकमात्र मंदिर में जन्मदिन समारोह के तहत सबसे पहले बिग-बी के माता-पिता हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन को नमन किया गया। इसके बाद शुक्रवार सुबह ठीक 11.11 मिनट पर बिग-बी की दीर्घायु के लिए अमिताभ चालीसा का पाठ करने के साथ बर्थ-डे केक काट कर जन्म दिन मनाया। बिग-बी के सदाबहार गीतों पर डांस के साथ 154 बच्चों को टिफिन बॉक्स, एकेडमिक किट्स, चाकलेट आदि बांटे गए। फिर रात को कालीघाट, काली मंदिर में जरूरतमंदों को खिचड़ी प्रसाद के तौर पर वितरित किया गया। एबीएबीएफ के प्रदेश सचिव संजय पाटोदिया के नेतृत्व में बिग-बी के फैंस ने महानगर के तिलजला में श्रीधर रोड स्थित ‘अमिताभ बच्चन टेम्पल-कम-म्यूजियम’ में स्थापित बिग-बी की प्रतिमा की आरती उतारने के साथ विशेष प्रार्थना की। साथ ही हनुमान चालीसा की तर्ज पर अमिताभ चालीसा का पाठ ....‘हे हरिवंश ज्ञान गुण सागर, आपसे हुए एक अवतार उजागर, हरि पुत्र अतुलित बलधामा, तेजपुत्र अमिताभ है नामा’ हुआ। कोलकाता की मुख्य सामाजिक कल्याणकारी संस्थाओं में शुमार एबीएबीएफ की ओर से इस मौके पर आयोजित समारोह में 7०० से ज्यादा प्रशंसक मौजूद थे, जिनमें बच्चे, युवक सहित युवतियां-महिलाएं शामिल थीं। मूल रूप से राजस्थान के कोठपुतली निवासी व बरसों से कोलकाता में प्रवासरत राजस्थानी पाटोदिया ने राजस्थान पत्रिका को दिए विशेष इंटरव्यू में बताया कि बिग-बी के बर्थडे पर बिहार के बाढ़ पीडि़तों की सहायतार्थ 77 हजार रुपए का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष में सौंपा गया। इससे पहले इसी साल 2 अगस्त में असम के लिए भी 111042 का ड्राफ्ट दिया गया था। पाटोदिया ने बताया कि उन्होंने एबीएबीएफ के 400 अन्य प्रशंसकों की मदद से 2001 में ‘अमिताभ बच्चन टेम्पल-कम-म्यूजियम’ का निर्माण कराया था। उन्होंने बताया कि 1980 के जमाने से ही वे बिग-बी के फैन थे। बिग-बी को भगवान का दर्जा देने का मुख्य कारण बताते हुए पाटोदिया ने कहा कि बिग-बी का माता-पिता के प्रति सम्मान, अभिमान से कोसों दूर, सरल स्वभाव-सादगी व खासकर स्वामी विवेकानंद के सिद्धांत-‘कर्म ही पूजा है’ के मार्ग पर अग्रसर अमिताभ के व्यक्तित्व ने उन्हें सबसे ज्यादा प्रभावित किया।

फिल्म अग्निपथ के जूते और अक्श का सिंहासन
सबसे बड़ी खास बात यह है कि ‘अमिताभ बच्चन टेम्पल-कम-म्यूजियम’ में बिग-बी के वही सफेद जूते प्रदर्शित किए गए हैं, जिसे उन्होंने फिल्म अग्निपथ और तूफान में पहना था। इसी तरह फिल्म अक्श में जिस सिंहासन पर अमिताभ बैठे थे वही सिंहासन यहां आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

आई एम प्राउड ऑफ माई फैन्स ऑफ कोलकाता
गौरतलब है कि अमिताभ ने अपने टिवंटर एकाउंट पर इस क्लब का शुक्रिया इन शब्दों में भी अदा किया है---- आई एम प्राउड ऑफ माई फैन्स ऑफ कोलकाता. क्लब के प्रेसीडेंट राजदीप कोनार, वाइस प्रेसीडेंट रोहित कुमार भुतोडिय़ा, सहायक सचिव कुशलदास गुप्ता आदि सक्रिय रहे।

amitabh-bachchan2.jpeg
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned