कहां हो गया कन्फर्म का सपना काफूर? अक्टूबर तक भूल जाइए ट्रेनों में रिजर्वेशन, जानिए यहां....

कहां हो गया कन्फर्म का सपना काफूर? अक्टूबर तक भूल जाइए ट्रेनों में रिजर्वेशन, जानिए यहां....
कहां हो गया कन्फर्म का सपना काफूर? अक्टूबर तक भूल जाइए ट्रेनों में रिजर्वेशन, जानिए यहां....

Shishir Sharan Rahi | Updated: 18 Sep 2019, 01:47:58 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

WEST BENGAL NEWS: NO CONFIRM TICKET IN LONG DISTANCE TRAIN: दुर्गा पूजा, दिवाली और छठ पर घर जाना हुआ मुश्किल, अक्टूबर तक ट्रेनों में सीटें फुल, बोले मुसाफिर, रिजर्वेशन नहीं मिला तो आखिर में वोल्वो सहारा, यात्रियों की दिक्कतें: लंबी दूरी की ट्रेनों में नहीं मिल रहा कंफर्म टिकट, पत्रिका पड़ताल

कोलकाता (WEST BENGAL). अगर आप दुर्गा पूजा, दिवाली और छठ पर्व पर अपने गृह राज्य जाकर सपरिवार त्योहार मनाने का सपना देख रहे, तो हो जाइए सतर्क। क्योंकि लंबी दूरी की ट्रेनों में कन्फर्म टिकट (NO CONFIRM TICKET) तो दूर, अक्टूबर तक सीटें फुल है। जी हां, दुर्गा पूजा, दिवाली और छठ पर्व पर कोलकाता से अपने गृह प्रदेश के रेल सफर पर जाने का सपना संजोए प्रवासी हिंदी भाषियों को लंबी दूरी की ट्रेनों में कन्फर्म टिकट नहीं मिलने से मायूसी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि इन त्योहारों पर रेल सफर के दौरान यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पूर्व रेलवे की ओर से पूजा स्पेशल ट्रेनें भी चलाने की घोषणा की गई है पर यात्रियों की दिक्कतें इससे कम नहीं हो रही। हालात यह है कि अगले पूरे माह (अक्टूबर) तक लंबी दूरी की लगभग सभी ट्रेनों में सीटें अभी से ही फुल हो गई हैं। इसके बावजूद अपने मूल निवास में सपरिवार पर्व मनाने वाले खासकर उप्र-बिहार जाने वाले यात्री कन्फर्म टिकट की आस में मंगलवार को रिजर्वेशन काउंटरों पर आरक्षित रेल टिकट के लिए फॉर्म भरते नजर आए। पत्रिका संवाददाता ने मंगलवार को जब सियालदह स्टेशन जाकर रिजर्वेशन काउंटरों पर कुछ यात्रियों से कन्फर्म टिकट को लेकर मौके पर पड़ताल की, तो अधिकांश ने मायूसी भरे लहजे में नकारात्मक जवाब दिया। इनमें से कुछ ने तो यहां तक कहा कि अगर ट्रेन में रिजर्वेशन टिकट नहीं मिली तो आखिर में वोल्वो बस का सहारा लेना पड़ेगा। अब तत्काल टिकट का ही आसरा है। बिहार जाने वाली अधिकांश ट्रेनों का यही हाल है। कोलकाता से समस्तीपुर जाने के लिए टिकट लेने सियालदह आए बिहार निवासी नरेश ठाकुर ने पत्रिका संवाददाता को कुछ ऐसा ही जवाब दिया। इसी प्रकार सियालदह के कई रिजर्वेशन काउंटरों पर दरभंगा, मुज्फरपुर, सीतामढ़ी, जौनपुर, गोरखपुर सहित अन्य हिंदी भाषी शहरों को जाने वाले यात्री भी आरक्षित टिकट की आस में फार्म भरते रहे।

फर्जी नामों से टिकट बुक करा रहे दलाल
उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि 4 माह पहले रिजर्वेशन के सरकारी प्रावधानों के कारण सीटें नहीं मिलती। साथ ही काउंटर खुलने के कुछ ही घंटों के दरम्यान दलाल फर्जी नामों से टिकट भी बुक करा रहे। एसी 2,एसी 3टायर, स्लीपर क्लास के टिकट वेटिंग में चले गए हैं। रिजर्वेशन काउंटरों और साइबर कैफे से टिकट लेने वालों को निराशा हाथ लग रही. सवाल-जवाब के दौरान रेलवे के आला अधिकारियों के प्रति थोड़ी नाराजगी जताते हुए यात्रियों ने कहा कि एक तरफ पूजा की तारीखें नजदीक आती जा रही जबकि अभी तक महज कुछ ही पूजा स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की गई।
दुर्गा पूजा 4 से 8 अक्टूबर, दिवाली 27 और छठ 2 नवंबर को
यहां उल्लेखनीय है कि दुर्गा पूजा 4 से 8 अक्टूबर, दिवाली 27 और छठ पूजा 2 नवंबर को है। कोलकाता सहित बंगाल के अन्य शहरों में बड़ी तादाद में बिहार और उप्र निवासी रहते हैं। जिनके लिए सूर्योपासना के महापर्व छठ में शामिल होने के लिए अपने मूल निवास जाने की बेताबी रहती है।

पूर्व रेलवे ने की स्पेशल ट्रेनों की घोषणा
उधर पूर्व रेलवे की ओर से दिवाली/छठ के दौरान बिहार जाने वाली ट्रेनों में भारी भीड़ की आशंका को देखते हुए रेलवे ने कुछ स्पेशल ट्रेनों की घोषणा की है। पूर्व रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी (पी) अमिताभ चटर्जी ने मंगलवार को पत्रिका से खास बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि फिलहाल 3 पूजा स्पेशल ट्रेन की घोषणा की गई है और जल्द ही घोषित किए जाएंगे। जिन पूजा स्पेशल ट्रेनों की घोषणा की गई उनमें हावड़ा-गोरखपुर, हावड़ा-छपरा, सियालदह-पुरी-सियालदह पूजा स्पेशल, मालदा टाउन-हरिद्वार पूजा स्पेशल शामिल है। अमिताभ ने बताया कि पूर्व रेलवे की ओर से पर्व पर अपने गृह प्रदेश जाने वाले हिंदी भाषियों के सुविधा का पूरा ध्यान रखा जा रहा। बहुत जल्द ही और भी पूजा स्पेशल ट्रेनों को चलाने की घोषणा होगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned