ममता की सभा में जाकर किसान मांगे 14 हजार- शुभेन्दु

भाजपा नेता शुभेन्दु अधिकारी (BJP leader Shubhendu Adhikari)ने किसानों से कहा है कि वे तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी की सभा में जाकर अपने बकाया 14 हजार रूपयों की मांग करें। राज्य सरकार की हठधर्मिता के कारण ही यह राशि किसानों को नहीं मिल पाई है।

By: Paritosh Dube

Published: 21 Jan 2021, 04:12 PM IST

कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति तेज हो गई है। बढ़ते दवाब के बाद राज्य सरकार की ओर से केन्द्र की योजना किसान सम्मान निधि चालू करने की सहमति जताने को लेकर भाजपा नेता शुभेन्दु अधिकारी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को निशाने पर लिया है। मिदनापुर के केशपुर में गुरुवार को आयोजित जनसभा में अधिकारी ने कहा कि वे राज्य के किसानों का आह्वान करते हैं कि वे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की जनसभा में अपने बकाया 14 हजार रूपयों की मांग करें। यह राशि राज्य सरकार की हठधर्मिता के कारण किसान सम्मान निधि योजना लागू नहीं किए जाने से किसानों को नहीं मिल पाई है।
--------
चुनाव तक भूल जाएं कांग्रेस- वाममोर्चा को
तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ भाजपा ही सशक्त तरीके से मोर्चा खोल सकती है, यह कहते हुए अधिकारी ने कांग्रेस और वाममोर्चा समर्थकों से विधानसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में खड़े होने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आसन्न विधानसभा चुनाव में भाजपा ही तृणमूल कांग्रेस को पराजित कर सकती है। इसलिए वे अन्य दलों के समर्थकों से आह्वान करते हैं कि वे राज्य में असल परिवर्तन के लिए भाजपा का साथ दें। तभी राज्य में गणतंत्र बचा रहेगा। आगामी पंचायत चुनाव में सभी दलों के उम्मीदवार प्रतिद्वंदिता कर सकेंगे। इसलिए अन्य पार्टियों के समर्थक विधानसभा चुनाव तक कांग्रेस-वाममोर्चे को भूल जाएं।
- --
वाम समर्थकों पर डोरे डाले
जंगलमहल में स्थित केशपुर के वाममोर्चा समर्थकों पर डोरे डालने के लिए शुभेन्दु ने वाममोर्चा शासनकाल के अच्छे कार्यों को याद किया। राज्य मे ंपंचायती राज व्यवस्था, भूमि सुधारों को वाममोर्चा की उपलब्धि बताया। पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य को ईमानदार कहा और कोलकाता के न्यूटाउन राजारहाट में हुए विकास कार्य को वाम सरकार का काम बताया।
--------------
तृणमूल में सेंध मारने की कोशिश
सभा मंच से अधिकारी ने तृणमूल समर्थकों और नेताओं में सेंध मारने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस में रहना है तो कर्मचारी बनना पड़ेगा जबकि भाजपा में सहकर्मी बनकर सेवा की जा सकती है। उन्होंने तृणमूल शासनकाल में राज्य के शक्ति के केन्द्र के रूप में दक्षिण कोलकाता को सर्वाधिक महत्व दिए जाने का आरोप लगाते हुए आंकड़ों के सहारे अपनी बात कही।
--------
अल्पसंख्यकों को दिलाया भरोसा
भाजपा नेता ने राज्य के अल्पसंख्यकों को भरोसा दिलाया कि भाजपा सत्ता में आती है तो सबका विकास होगा। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस अल्पसंख्यकों को भाजपा से डरा रही है। लॉकडाउन के समय तीन महीने तक मिली निशुल्क गैस, महिलाओं को मिले ५ सौ रूपए, परिवारों को दिया गया राशन में केन्द्र सरकार ने कोई भेदभाव नहीं किया।
---------
प्रवासी श्रमिकों को साधा
सभामंच से अधिकारी ने राज्य के ४० लाख प्रवासी मजदूरों को साधने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रवासी श्रमिकों की विशेष ट्रेन को कोरोना एक्सप्रेस कहा था। प्रवासी मजदूर रोजी रोटी के लिए बाहर गए थे। उन्हें मुख्यमंत्री की दी गई संज्ञा याद रखनी होगी।

Show More
Paritosh Dube Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned