West Bengal: समुद्र से सड़क तक सुपर साइक्लोन का कहर

चक्रवाती तूफान अम्फान ने बुधवार दोपहर ढाई बजे पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में दस्तक दी। इसकी शुरुआत राज्य के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप से हुई। कोरोना संकट के बीच अब 'अम्फान' सुपर साइक्लोन देश के तटीय इलाकों में तबाही मचा रहा है। जोरदार बारिश के बीच समुद्र से सड़क तक यह कहर बरपा रहा है। समुद्र में ऊंची लहरें उठ रही हैं तो सड़कों पर कई पड़े और बिजली के खंभे गिर गए हैं।

By: Rabindra Rai

Updated: 20 May 2020, 05:59 PM IST

पश्चिम बंगाल के अधिकांश हिस्सों में तेज बारिश, कई पेड़ उखड़े
सीएम ममता ने लिया हालात का जायजा, संयम रखने की सलाह
कोलकाता. चक्रवाती तूफान अम्फान ने बुधवार दोपहर ढाई बजे पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में दस्तक दी। इसकी शुरुआत राज्य के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप से हुई। कोरोना संकट के बीच अब 'अम्फान' सुपर साइक्लोन देश के तटीय इलाकों में तबाही मचा रहा है। जोरदार बारिश के बीच समुद्र से सड़क तक यह कहर बरपा रहा है। समुद्र में ऊंची लहरें उठ रही हैं तो सड़कों पर कई पड़े और बिजली के खंभे गिर गए हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को सचिवालय नवान्न से तटवर्ती जिलों उत्तर व दक्षिण 24 परगना, पूर्व मिदनापुर जिले के कलक्टरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कोलकाता, हावड़ा, हुगली, नदिया, मुर्शिदाबाद सहित गंगा के तटों के जिलों के कलक्टरों से भी उठाए गए ऐहतियाती कदमों की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने संबंधित जिला प्रशासन से धैर्य और संयम के साथ परिस्थितियों पर नजर रखने की सलाह दी। इस बीच, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने प्रभावित क्षेत्रों के सांसदों से बात की और उनसे अपील की कि वे अपने क्षेत्र के लोगों के संपर्क में रहें।
--
तूफान का दायरा काफी बड़ा
मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान का दायरा काफी बड़ा है और अभी इसका शुरुआती हिस्सा ही पहुंचा है। इसे पूरी तरह पार करने में करीब चार घंटे लगेंगे। चक्रवात के बीच में हवा की गति 160 से 170 किलोमीटर प्रति घंटा है, जो 190 किमी तक जा सकती है। चक्रवाती तूफान को देखते हुए राहत कार्यों के लिए भारतीय नेवी हाई अलर्ट पर है। पश्चिम बंगाल में एनडीआरएफ की 19 टीमें लगाई गई हैं।
--
कोलकाता हवाई अड्डा बंद
कोलकाता हवाई अड्डे को गुरुवार की सुबह पांच बजे तक के लिए बंद कर दिया गया है। पश्चिम बंगाल ३.३० लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में सुबह से बारिश हो रही है। समय के साथ हवा की गति और बारिश की भीषणता बढ़ती जा रही है। कोलकाता शहर में तूफान और बारिश का असर दिख रहा है। चार बजे के आस-पास यहां 100 किमी से ज्यादा रफ्तार से आंधी चल रही हैं। कोलकाता में वाहनों के आवागमन के लिए सभी फ्लाईओवर और एलिवेटेड कॉरिडोर बंद कर दिए गए हैं।
--
विशाखापत्तनम में नेवी के जहाज तैयार
भारतीय नेवी के अनुसार पूर्वी नेवल कमान बंगाल की खाड़ी में हालात पर नजर रखे हुए है और विशाखापत्तनम में जलयानों को प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य, बचाव और परिवहन संबंधी आवश्यकता को पूरा करने के लिए तैयार रखा गया है। इसके लिए नेवी ने गोताखोरों, डॉक्टरों, रबर बोट, खाद्य सामग्री, दवाइयां, कपड़े, कंबल आदि की अतिरिक्त व्यवस्था की है।
--
200 किमी प्रति घंटे रफ्तार
मौसम विभाग के अनुसार प्रभावित क्षेत्रों में तूफान की रफ्तार 170-180 किलोमीटर प्रति घंटे है। रफ्तार 200 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। कई क्षेत्रों में जोरदार बारिश हो रही है। अत्यंत तेज चक्रवाती तूफान बंगाल की खाड़ी के उत्तरी-पश्चिमी और निकटवर्ती पश्चिमी मध्य क्षेत्र पर घुमड़ रहा है।
--
राज्य में सबसे बड़ा अभियान
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि तूफान की भयावहता को देखते हुए ३.३० लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने के लिए अब तक का सबसे बड़ा अभियान चलाया है। राहत और बचाव कार्यों के लिए पश्चिम बंगाल में नेशनल डिजास्टर रेस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) की 19 टीमें तैनात की गई हैं। इनमें से छह टीमें दक्षिण 24 परगना, चार-चार टीमें पूर्वी मिदनापुर और कोलकाता, तीन टीमें उत्तरी 24 परगना और एक-एक टीम हुगली और हावड़ा में तैनात की गई है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned