नक्सलियों के सफाये को सक्रिय हुई पश्चिम बंगाल सरकार

नक्सलियों के सफाये को सक्रिय हुई पश्चिम बंगाल सरकार

Prabhat Kumar Gupta | Publish: Sep, 07 2018 10:50:05 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

पश्चिम बंगाल समेत पूर्वी भारत के अन्य राज्यों ने नक्सलियों के सफाए के लिए कमर कस ली है। राज्य सरकारें केंद्र के सहयोग से अब निर्णायक लड़ाई लडऩे की कवायद में जुट गई हैं।

 

- पूर्वी क्षेत्र के राज्यों के बीच समन्वय पर जोर
- झारखण्ड की बैठक में शामिल हुए राज्य के वरिष्ठ आईपीएस राजीव मिश्रा

कोलकाता.
पश्चिम बंगाल समेत पूर्वी भारत के अन्य राज्यों ने नक्सलियों के सफाए के लिए कमर कस ली है। राज्य सरकारें केंद्र के सहयोग से अब निर्णायक लड़ाई लडऩे की कवायद में जुट गई हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर पूर्वी भारत के पांच राज्यों के पुलिस अधिकारियों ने शुक्रवार को झारखण्ड की राजधानी रांची में उच्च स्तरीय बैठक की। जिसमें नक्सलियों के सफाये को लेकर विस्तारपूर्वक चर्चा हुई। हिस्सा लेने वाले राज्यों में पश्चिम बंगाल, झारखण्ड, ओडिशा, छत्तीसगढ़ और बिहार शामिल थे। पश्चिम बंगाल के वरिष्ठ आईपीएस राजीव मिश्रा बैठक में शामिल हुए।

अभियान चलाने पर सहमति-
बैठक में उपस्थित राज्यों के शीर्ष पुलिस अधिकारियों ने नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाने पर सहमति व्यक्त की है। एक तरफ जहां पश्चिम बंगाल के पुलिस अधिकारी ने जंगलमहल से सटे झारखंड की सीमा पर विशेष चौकसी बरतने की जरूरत बताई वहीं झारखण्ड पुलिस भाकपा माओवादियों के गढ़ बूढ़ा पहाड़, सारंडा और पारसनाथ में एक साथ बड़ा अभियान चलाने की रणनीति पर काम करने की बात कही। केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा ने झारखंड में जनवरी से जून महीना तक चले नक्सल अभियान की समीक्षा के बाद माओवादियों के तीन प्रमुख गढ़ों में एक साथ अभियान चलाने का निर्देश दिया है।

राज्यों के बीच समन्वय-
बैठक में सीमावर्ती राज्यों की पुलिस के साथ आपसी सहयोग एवं समन्वय स्थापित करने के मुद्दे पर चर्चा हुई। कहा गया कि नक्सलियों पर शिकंजा कसने के लिए संयुक्त नक्सल-अभियान चलाया जाए। नक्सली गतिविधियों पर अंकुश लगाने के अलावा अफीम की अवैध खेती, साइबर अपराध एवं संगठित अपराध पर रोक लगाना अत्यंत जरूरी है। इसके लिए अंतरराज्यीय समन्वय होना चाहिए। केंद्रीय गृह मंत्रालय के हवाले से कहा गया कि पूर्वी क्षेत्रीय पुलिस समन्वय समिति की तरह ही पूर्वी क्षेत्रीय साइबर क्राइम समन्वय समिति की बैठक होना आवश्यक है। बैठक में पश्चिम बंगाल के राजीव मिश्रा, बिहार के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आलोक राज, छत्तीसगढ़ के हिमांशु गुप्ता, सीआरपीएफ के डीआईजी संजय आनंद लाठकर, बिहार के संजय कुमार, सीआईएसएफ के अनिल कुमार और ईडी के सुबोध कुमार ने भी अपना विचार व्यक्त किया।

Ad Block is Banned