बंगाल के बेरोजगारों को दो लाख तक का ऋण

राज्य के बेरोजगारों को नए व्यवसाय शुरू करने में मदद करने के उद्देश्य से, पश्चिम बंगाल सरकार ने 'कर्मसाथी योजना शुरू करने का फैसला किया है, जिसके तहत आवेदकों को दो लाख रुपये तक के सॉफ्ट लोन प्रदान किए जाएंगे।

By: Paritosh Dube

Published: 19 Sep 2020, 09:55 PM IST


कोलकाता. राज्य में बेरोजगारी कम करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने कर्मसाथी योजना शुरू करने का निर्णय लिया है। राज्य सचिवालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को कहा कि 18 से 50 वर्ष तक के बेरोजगार नई योजना का लाभ उठा सकेंगे। योजना की पात्रता के लिए 8 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना या रोजगार बैंक में पंजीकरण अनिवार्य होगा।
वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने कहा कि योजना का प्राथमिक उद्देश्य राज्य में रोजगार के अवसर पैदा करना है। योजना के अंतर्गत राज्य सरकार सहकारी बैंकों से दो लाख रुपये तक का सॉफ्ट लोन आवेदकों को दिलाना सुनिश्चित करेगी। सरकार समय पर ब्याज चुकाने वाले हितग्राहियों को तीन वर्षों की ब्याज राशि का 50 प्रतिशत का भुगतान करेगी। योजना के अनुसार, बैंक व्यवसाय की लागत का 80 प्रतिशत ऋण के रूप में प्रदान करेंगे, जो अधिकतम दो लाख रुपये होगा।
पश्चिम बंगाल सरकार ने सालाना कम से कम एक लाख आवेदकों को ऋण देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। आवेदक एसडीओ या बीडीओ के पास आवेदन करेंगे। जिन्हें संबंधित सहकारी बैंकों को भेजा जाएगा।

Paritosh Dube Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned