बंगाल: बमबाजी पर भारी बड़ाबाजारवासी

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के 11 में से 1 जोड़ासांकू विधानसभा क्षेत्र में गुरुवार को वोटिंग हो रही है। भाजपा प्रत्याशी मीना देवी पुरोहित की गाड़ी को रवीन्द्र सरणी में टार्गेट कर बम फेंके गए। उन्होंने कहा कि मुझे और मतदाताओं को डराने की तृणमूल की कोशिश कामयाब नहीं होगी।

By: Rabindra Rai

Published: 29 Apr 2021, 12:34 PM IST

जोड़ासांकू के मतदाता खुलकर कर रहे हैं मतदान
कोलकाता. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के 11 में से 1 जोड़ासांकू विधानसभा क्षेत्र में गुरुवार को वोटिंग हो रही है। भाजपा प्रत्याशी मीना देवी पुरोहित की गाड़ी को रवीन्द्र सरणी में टार्गेट कर बम फेंके गए। उन्होंने कहा कि मुझे और मतदाताओं को डराने की तृणमूल की कोशिश कामयाब नहीं होगी। गाड़ी पर बम फेंकने के मामले में पुलिस एक युवक को पकड़कर थाने ले गई। महाजाति सदन के पास भी बमबाजी की गई। भाजपा-तृणमूल ने एक-दूसरे पर आरोप लगाया। इसके बावजूद बड़ाबाजार के लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। साहित्य, कला, शिक्षा और व्यापार के केंद्र के रूप में विख्यात इस सीट पर सभी की नजरे हैं। इस क्षेत्र में शामिल राज्य के सबसे बड़े व्यापारिक केंद्र बड़ाबाजार के मारवाड़ी मतदाता भी वोट डालने को आतुर हैं। हिंदीभाषी बहुल इस क्षेत्र में इस बार तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी विवेक गुप्त, भाजपा प्रत्याशी मीना देवी पुरोहित और संयुक्त मोर्चा समर्थित कांग्रेस उम्मीदवार अजमल खान मैदाने जंग मैं हैं। 2016 के विधानसभा चुनाव में यहां करीब 54 फीसदी मतदान हुआ था। कोरोना की तेज होती लहर के बावजूद मतदाता लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव में भाग लेने को बेताब दिख रहे हैं। हिन्दीभाषी बहुल सीट जोड़ासांको में मारवाड़ी लोग ही अब तक यह तय करते आए कि इस सीट पर बाजी किसके हाथ लगेगी। भाजपा और टीएममसी के उम्मीदवारों की मारवाड़ी समुदाय पर पकड़ हैै। वैसे तो इस सीट पर फिलहाल सत्तारूढ़ तृणमूल का कब्जा है, पर कोलकाता उत्तर लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाली इस सीट पर पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने बढ़त बनाई थी। अब देखना है कि करीब दो लाख मतदाता इस बार किस उम्मीदवार की राजनीतिक किस्मत चमकाते हैं।
--
अफवाह का जवाब वोट से दें:मीना देवी
मतदान की पूर्व संध्या पर मीना देवी पुरोहित ने दावा किया कि बेवजह बड़ाबाजार में भय का माहौल पैदा किया गया। सोची समझी रणनीति के तहत खासकर प्रवासी राजस्थानी मतदाताओं को डराने, उनमें असुरक्षा का वातावरण उत्पन्न किया गया। उन्होंने अफवाहों के खिलाफ मुखर हुए लोगों से मताधिकार का उपयोग करने की पुरजोर अपील की है। 4 बार पार्षद और डिप्टी मेयर रही मीना देवी ने कहा कि वह 25 साल से राजनीति कर रही जबकि इस मुश्किल घड़ी में जरूरत है लोगों में आत्मविश्वास पैदा करने की। उन्होने मतदाताओं से कहा कि सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। सुरक्षा बल तैनात है। बड़ाबाजार के वोटर ज्यादा से ज्यादा संख्या मे बूथ पर पहुंच कर वोट दें। उन्होने कहा कि मतदाता कोरोना गाइडलान का पालन करते लोकतंत्र के यज्ञ में अपनी आहुति दें।
--
खुली बहस की चुनौती नहीं की स्वीकार: गुप्त
विवेक गुप्त ने कहा कि उन्होंने सभी प्रत्याशियों को खुले मंच पर खुली बहस की चुनौती दी थी, लेकिन किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। अगर इलाके का चौतरफा विकास करना है तो सभी को आगे आना पड़ेगा। इलाके की समस्या का समाधान इस तरीके से करना पड़ेगा ताकि किसी को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। वे जब राज्यसभा सांसद थे तभी उन्होंने बड़ाबाजार की सोनापट्टी के स्वर्णकारों के हित में उत्पाद कर का मसला जोरशोर से उठाया था।
--
विफलताओं को छुपाने बदला प्रत्याशी: खान
अजमल खान ने आरोप लगाया कि दस साल की विफलताओं को छुपाने के लिए तृणमूल ने इस बार प्रत्याशी बदला है, इससे पार्टी को कोई फायदा नहीं होगा। विवेक गुप्त का कोई सामजिक सरोकार नहीं है। जबकि भाजपा की मीना देवी ने इलाके की मूल समस्याओं के समाधान के लिए काम नहीं किया। दोनों प्रत्याशियों के पास न कोई विचारधारा और न कोई रोडमैप है।
--
मीना देवी की प्राथमिकताएं
बड़ाबाजार की पार्किंग, अतिक्रमण, जलनिकासी समस्या दूर की कोशिश
एक हिस्सा गिर चुके विवेकानंद रोड फ्लाईओवर की समस्या का समाधान
बालिकाओं की शिक्षा, महिलाओं खासकर बुजुर्ग महिलाओं के काम
--
विवेक गुप्त के वादे
ट्रैफिक समस्या का समाधान, स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार और कविगुरु रवीन्द्रनाथ टैगोर की जन्मस्थली जोड़ासांकू का विकास
क्षेत्र को पर्यटन हब के रूप में विकसित करना ताकि रोजगार बढ़े और टैक्स भी
बाजार, कटरे समेत इलाके की साफ-सफाई
--
अजमल खान के पिटारे में ये
भ्रष्टाचार दूर करेंगे, बदले की राजनीतिक हिंसा और अवैध पार्किंग पर रोकथाम लगाएंगे।
कॉलेज स्ट्रीट मार्केट, मछुआ फलमंडी और पोस्ता का विकास करेंगे
विवेकानंद रोड फ्लाईओवर को लेकर कोई न कोई रास्ता निकालने की कोशिश करेंगे

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021
Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned