WEST BENGAL WEATHER UPDATE 2021---पहले यास अब चक्रवात गुलाब प्रदेश में गर्जना को तैयार

कोलकाता में मंगलवार से बारिश ,साथ ही वज्रपात के साथ मूसलाधार बारिश की संभावना
मौसम विभाग का पूर्वानुमान, तटीय इलाकों में तूफानी हवाएं चलेंगी.....

By: Shishir Sharan Rahi

Updated: 25 Sep 2021, 11:46 PM IST

WEST BENGAL WEATHER NEWS-कोलकाता। महानगर में शनिवार को शनिवार को आसमान में छाए काले बादलों के बीच मौसम का मिजाज हालांकि ठीक रहा। न तो बरसात हुई और न ही तेज हवा चली। लेकिनकोविड काल में इस साल चंद महीने पहले चक्रवात यास की बंगाल में भारी तबाही के बाद अब गुलाब नामक नए साइक्लोन दस्तक देने को तैयार है। मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में उत्पन्न निम्न दबाव हर घंटे के साथ शक्तिशाली होता जा रहा है। अगले 12 घंटों में इसके तूफान बनने की संभावना है।रविवार तक यह ओडिशा के तटीय इलाकों में पहुंचेगा। उधर बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य में एक और निम्न दबाव का अनुमान जताया जा रहा। मौसम विभाग के मुताबिक इन दो निम्न दबावों के चलते रविवार को दक्षिण बंगाल के विभिन्न जिलों में भारी बारिश के आसार हैं। दक्षिण बंगाल में सोमवार से बुधवार तक भारी बारिश और तटीय इलाकों में तूफानी हवाएं चलेंगी।मौसम विभाग के पूर्वी निदेशक संजीव बंद्योपाध्याय का कहना है कि तटीय इलाकों में 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।
----इन स्थानों में होगा ज्यादा असर
कोलकाता, हावड़ा, हुगली, उत्तर 24 परगना जिलों में हल्की से मध्यम तथा दक्षिण 24 परगना,पूर्व मेदिनीपुर जिलों में मूसलाधार बारिश की संभावना है। कोलकाता में मंगलवार से बारिश बढ़ेगी। साथ ही वज्रपात के साथ मूसलाधार बारिश की संभावना है। मंगलवार से दोनोंमेदिनीपुर, उत्तर-दक्षिण 24 परगना, हुगली, बांकुड़ा, पुरुलिया समेत दक्षिण बंगाल के सभी जिलों में भारी बारिश का पूर्वानुमान है। मंगलवार को कोलकाता, पूर्व और पश्चिम मेदिनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा-हुगली जिलों में 8 से 11 सेमी तक भारी बारिश के आसार हैं। मौसम के मिजाज देखते हुए मछुआरों को समुद्र में जाने से मना किया गया है। जो समुद्र में चले गए उन्हें तुरंत लौट आने को कहा गया।
-----

पाकिस्तान ने रखा गुलाब नाम
बंगाल की खाड़ी से उठे एक और तूफान गुलाब बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य से उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा। इस तूफान का नाम पाकिस्तान ने रखा है। फिलहाल यह डिप्रेशन के रूप में है जो आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय इलाकों से टकराएगा। अलीपुर मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक इसका सबसे अधिक प्रभाव ओडिशा के गोपालपुर से आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम के बीच रहेगा। जबकि इसका लैंडफाल आंध्र प्रदेश के कलिंगपटनम में होगा।................

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned