...जब बंगाल में जमीन से ‘प्रकट हुए भगवान’, देखें वीडियो...

Ashutosh Kumar Singh | Updated: 13 Sep 2019, 08:45:31 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

  • भगवान का आर्शिवाद कब, कहां और किस रूप में मिल जाए यह बता पाना मुश्किल है...

कोलकाता

भगवान (God) का आर्शिवाद कब, कहां और किस रूप में मिल जाए यह बता पाना मुश्किल है। इसका ताजा उदाहरण शुक्रवार को पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मालदह (Maldah) जिले के एक गांव में देखने को मिला। हबीबपुर थाना क्षेत्र के रंजीतपुर गांव का एक किसान रवि मरांडी शुक्रवार अपने खेत के एक भाग में जल सरंक्षण के लिए खुदाई कर रहा था। अचानक कुदाल किसी मजबूत पत्थर से टकरा गई। जब वह वहां की मिट्टी हटाया तो भौंचक्का रह गया। जमीन के अंदर भगवान विष्णु, गणेश, लक्ष्मी, हनुमान आदि देव-देवताओं की प्राचीन प्रतिमा थी। किसान ने इसकी सूचना गांव के लोगों को दी। थोड़े ही देर में यह खबर पूरे इलाके में फैल गई। घटनास्थल पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। लोगों ने प्रतिमा की पूजा अर्चना शुरू कर दी। गांव वाले इसे भगवान का आर्शिवाद मान रहे हैं।
-----

यह भी पढ़ेंः देवी मंदिर में चोरी करने गया चोर, देवी की हुई ऐसी कृपा कि...

...जब जमीन से ‘प्रकट हुए भगवान’, देखें वीडियो...

जिला प्रशासन को बैरंग लौटाए ग्रामीण
घटना की खबर पाकर जब जिला प्रशासन के अधिकारी पुरातत्व विभाग के अधिकारियों के साथ पहुंचे तो गांव वालों ने उन्हें बैरंग लौटा दिया। आदिवासी बहुल गांव के लोगों का कहना है कि जमीन के अंदर से मिली प्रतिमा भगवान का आर्शिवाद है। यह उन्हें मिला है। प्रतिमा को वे किसी भी स्थिति में किसी को नहीं देंगे।

...जब जमीन से ‘प्रकट हुए भगवान’, देखें वीडियो...

इनका कहना है
"हम हबीबपुर ब्लॉक प्रशासन व पुलिस अधिकारियों की टीम गांव में भेजेंगे। वें लोग ग्रामीणों को समझाने का प्रयास करेंगे।"
कौशिक भट्टाचार्य, जिला कलक्टर

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned