राज्य के पहले सेवक क्यों बोले,पार नहीं करें लक्ष्मणरेखा

राज्य के पहले सेवक क्यों बोले,पार नहीं करें लक्ष्मणरेखा
राज्य के पहले सेवक क्यों बोले,पार नहीं करें लक्ष्मणरेखा

Rabindra Rai | Updated: 08 Oct 2019, 07:58:05 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

पश्चिम बंगाल के पहले सेवक ने राज्य के सबसे बड़े त्योहार दुर्गा पूजा पर बड़ी बात कही है। उन्होंने बड़ी नसीहत देते हुए कहा है कि सभी से अपना काम करते रहना चाहिए। यही उनका धर्म है।

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के पहले सेवक ने राज्य के सबसे बड़े त्योहार दुर्गा पूजा पर बड़ी बात कही है। उन्होंने बड़ी नसीहत देते हुए कहा है कि सभी से अपना काम करते रहना चाहिए। यही उनका धर्म है। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि लोगों को अपना काम करने में विश्वास करना चाहिए और लक्ष्मण रेखा पार किए बगैर इसे जारी रखना चाहिए।

--

लोगों से अपील की
राज्य के हुगली जिले में एक दुर्गापूजा पंडाल में राज्यपाल ने लोगों से अपील की कि राज्य का गौरवपूर्ण अतीत फिर से लौटाने के लिए लोगों को एकजुट होकर काम करना चाहिए। धनखड़ ने कहा कि मैं दुर्गापूजा के इस महान त्योहार पर लोगों से अपील करता हूं कि वे अपने काम और अपनी सीमा पर विश्वास करें। लोगों को अपनी सीमा पार नहीं करनी चाहिए और अपना काम करते रहना चाहिए। यही उनका धर्म है।
--
अपनी हद को नहीं लांघें
राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता अब्दुल मनन के आमंत्रण पर वह पूजा में आए थे। उन्होंने कहा कि मैं राज्य का पहला सेवक और लोगों का सिपाही हूं। मेरे सभी पूर्ववर्ती महान थे लेकिन मैं पहला राज्यपाल हूं जो स्वतंत्रता के बाद पैदा हुआ हूं। मैं कभी भी लक्ष्मण रेखा को पार नहीं करूंगा और पश्चिम बंगाल के लोगों से अपील करता हूं कि वे भी अपनी हद को नहीं लांघें।
दुर्गापूजा के अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए धनखड़ ने कहा कि पश्चिम बंगाल के गौरवपूर्ण अतीत को फिर से लौटाने के लिए सभी मिलजुल कर काम करें।
--
राज्यपाल को सांसद ने दी सलाह
राज्यपाल के भाषण पर तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा कि धनखड़ ने जो कहा उसे पालन करने के लिए भाजपा से कहना चाहिए। बनर्जी ने कहा कि मैं उन्हें एक सलाह देना चाहता हूं। चूंकि वह भाजपा से जुड़े रहे थे, इसलिए आज जो उन्होंने कहा, उन्हें भगवा पार्टी के कार्यकर्ताओं से उसका पालन करने के लिए कहना चाहिए। वह कुछ दिन पहले ही पश्चिम बंगाल आए हैं और मेरा मानना है कि उन्हें राज्य के बारे में बहुत कम जानकारी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned