हिन्दुस्तान में विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र

Shankar Sharma

Publish: Oct, 13 2017 12:05:46 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
हिन्दुस्तान में विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र

हिन्दुस्तान में विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और आतंकवाद के खात्मे सहित अन्य सभी महत्वपूर्ण मसलों पर अमेरिका भारत के साथ खड़ा है और हमेशा रहेगा

कोलकाता. हिन्दुस्तान में विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और आतंकवाद के खात्मे सहित अन्य सभी महत्वपूर्ण मसलों पर अमेरिका भारत के साथ खड़ा है और हमेशा रहेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए २०२० में होने वाले चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रॉबी वेल्स ने गुरुवार को यह बेबाक टिप्पणी की। मौका था जेआईएस ग्रुप के एमडी सरदार तरणजीत सिंह की ओर से होटल पार्क में आयोजित अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए २०२० में होने वाले चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार वेल्स के पैनल परिचर्चा का।


वेल्स ने बढ़ती आतंकवादी घटनाओं, कुछ देशों की ओर से प्रायोजित आतंकवाद और वैश्विक अर्थव्यवस्था सहित अन्य ज्वलंत विषयों पर खुलकर अपनी राय व्यक्त की और परिचर्चा में मौजूद श्रोताओं के सवालों के जवाब दिए। वेल्स ने कहा कि आज की सबसे बड़ी जरूरत आजादी के लिए सेवा है। वेल्स ने कहा कि परिवर्तन अमेरिका में ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व में स्पष्ट है।


वेल्स ने परिचर्चा में मौजूद एक श्रोता के सवाल के जवाब में कहा कि अगर वे अमेरिका के राष्ट्रपति निर्वाचित हुए, तो उनके कार्यकाल में भारत के साथ बेहतर संबंधों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी। भारत के खिलाफ किसी भी देश की ओर से होने वाली आतंकी गतिविधियों को खत्म कर दिया जाएगा। दोनों देशों के वित्तीय गठजोड़ प्रोत्साहित करने का वे प्रयास करेंगे, जिससे विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में संभावित आर्थिक वृद्धि होगी। वेल्स को हाल ही अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार शांति आयोग के राजदूत और प्रवक्ता का नाम दिया गया है।


भारतीय उद्योगपति रेड्डी को बनाया अंतरराष्ट्रीय राजदूत : वेल्स की ओर से २०२० के चुनाव के लिए विदेशी संबंधों के अंतरराष्ट्रीय राजदूत नियुक्त मीडिया जगत की शक्तिशाली हस्ती भारतीय उद्योगपति व वल्र्ड न्यूज नेटवर्क के संस्थापक, सीईओ-सह-प्रबंध निदेशक सतीश रेड्डी और पद्मश्री से सम्मानित इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ इंजीनियरिंग साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईआईईएसटी) शिबपुर के निदेशक डॉ. अजय कुमार रॉय भी परिचर्चा में शामिल थे। इसके अलावा जेआईएस ग्रुप के निदेशक सिमरप्रीत सिंह, डीजीएम विद्युत मजुमदार और शिक्षा-उद्योग जगत की अनेक मुख्य हस्तियां भी इस दौरान मौजूद थीं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned