जय श्री राम के उद्घोष पर चिढऩा गलत: डॉ. शास्त्री

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. विजय सोनकर शास्त्री ने कहा कि जय श्री राम के उद्घोष पर किसी का चिढऩा गलत है, क्योंकि भगवान राम हमारी संस्कृति में रचे बसे हुए हैं। उन्होंने कहा कि जब किसी के घर में बच्चा जन्म लेता है तो कहा जाता है कि राम पैदा हुआ, किसी की शादी होती है तो कहा जाता है कि राम सीता की शादी हो रही है। जब किसी की मृत्यु होती है तो राम नाम सत्य कहा जाता है।

By: Rabindra Rai

Published: 28 Jan 2021, 10:55 PM IST

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता बोले, राम बसे हैं हमारी संस्कृति में
टीटागढ़. भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. विजय सोनकर शास्त्री ने कहा कि जय श्री राम के उद्घोष पर किसी का चिढऩा गलत है, क्योंकि भगवान राम हमारी संस्कृति में रचे बसे हुए हैं। उन्होंने कहा कि जब किसी के घर में बच्चा जन्म लेता है तो कहा जाता है कि राम पैदा हुआ, किसी की शादी होती है तो कहा जाता है कि राम सीता की शादी हो रही है। जब किसी की मृत्यु होती है तो राम नाम सत्य कहा जाता है। डॉ. शास्त्री उत्तर 24 परगना जिले के टीटागढ़ के पांडेय भवन में पत्रिका से बातचीत कर रहे थे। वे पूर्व पार्षद अशोक कुमार पांडेय की ओर से अपनी दिवंगत पत्नी की बरसी पर आयोजित यादें कार्यक्रम में आए थे। इस दौरान विधायक सुनील सिंह, पवन सिंह समेत कई जाने माने लोग उपस्थित थे।
एक सवाल के जवाब में डॉ. शास्त्री ने बताया कि हमारे संविधान में भगवान राम के नाम का उल्लेख है, ऐसे में किसी सरकारी कार्यक्रम में राम के उद्घोष को गलत नहीं ठहराया जा सकता है।
--
विकास के मुद्दे पर लड़ेंगे चुनाव
डॉ. शास्त्री ने बताया कि पश्चिम बंगाल के आसन्न विधानसभा चुनाव में भाजपा विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी। पीएम मोदी ने देश की राजनीतिक पिच पर विकास को लाया है। वे हमेशा सबका साथ सबका विकास को तरजीह देते हैं। ऐसे में विकास की पिच पर बंगाल में भी खेल होगा। राज्य को फिर सोनार बांग्ला बनाया जाएगा। भाजपा राज्य के लोगों का दिल जीतने का पूरा प्रयास करेगी। लोगों के आशीर्वाद से हम पूर्ण बहुमत से साथ राज्य में सरकार बनाएंगे।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned