CORONA BENGAL ALERT_...कल चमन था आज इक सहरा हुआ, देखते ही देखते ये क्या?

CORONA BENGAL ALERT: Yesterday it was chaman, today I was stunned, what was it? ..लाकङाऊन के बाद प्रेसीडेंसी/ कालेज स्ट्रीट /कालेज स्क्वायर समेत तमाम शैक्षिक स्थानों मे छाई वीरानी , पत्रिका से खास बातचीत मे मेहनतकश वर्ग ने बयान की पीड़ा कहा, भूख_गरीबी व रोजी-रोटी का नही होता साहब लाकङाऊन , .पत्रिका ग्राउंड रपट

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 30 Mar 2020, 10:13 AM IST

कोलकाता ...लम्हों ने खता कि और सदियों ने सजा पाई। कल चमन था आज इक सहरा हुआ, देखते ही देखते ये क्या हुआ? कभी गुलजार के जहा नजारे हुआ करते थे । पैर रखने की जगह भी नही होती थी वह स्थान आज श्मशान घाट की तरह नजर आ रहा और इस खुबसूरत गीत की पंक्तिया यहाॅ चरितार्थ साबित हो रही । जी हा ये कोई बालीवुड मसालेदार फिल्म का सीन नही बल्कि विश्वविख्यात प्रेसीडेंसी का नजारा गुरूवार को पत्रिका की ग्राउंड रिपोर्ट के दौरान देखने को मिला । प्रेसीडेंसी के जायजा लेने के दौरान गेट के अन्दर कुछ सिक्युरिटी गार्ड नजर आए । जिसमे अमरजीत राय, श्यामल राय और मनोज पासवान आदि ने पत्रिका से खास बातचीत मे कहा कि पापी पेट की खातिर उन्हे प्रेसीडेंसी आना मजबूरी है । बाकी की तरह वे वर्क फ्रांम होम काम नही कर सकते । वैश्विक स्तर पर घोषित महामारी कोरोना वायरस नोवेल कोविङ १९ के संक्रमण रोकने के लिए कोलकाता समेत देश के करीब ७५ अन्य शहरों मे लागू लाकङाऊन के बाद यहाॅ सन्नाटे का आलम है। सबसे बङी विडम्बना यह है कि रोजाना मेहनत कर अपना व परिजनों का पेट पालने वाले मेहनतकश वर्ग पर आज संकट के बादल छाए हुए है ।

पत्रिका से खास बातचीत मे कुछ मजदूरों, रिक्शा चालकों ने इन शब्दों मे अपनी पीड़ा बयान कि_साहब भूख, गरीबी और रोजी-रोटी का कोई भी लाकङाऊन नही होता । ओडिशा के बालेश्वर जिला निवासी रिक्शा चालक केवला जाना, बिहार के समस्तीपुर निवासी राजू पासवान, दक्षिण २४ परगना जिले के निवासी मंगल सरदा समेत अन्य ने कहा कि कोरोना वायरस से भले ही किसी को मौत आए या नही पर भूख से जरूर किसी को जिन्दगी से हाथ धोना पड़ सकता है । हालांकि सवालों के जवाब मे सभी ने लाकङाऊन पर कहा कि कोरोना को रोकने के लिए सरकार के इस फैसले का वे समर्थन करते है । उन्होंने कहा कि सबकुछ बन्द कर देने के कारण उनकी रोजाना आमदनी प्रभावित हुई है । तमाम तरह की मुश्किलों का सामना करना पड रहा है । इन सबके बीच केएमसी की महिला सफाई कर्मी ब्रिहसपति नाग ने अपने काम पर गर्व महसूस कर कहा कि इस लाकङाऊन मे आम जनजीवन जहा प्रभावित हुआ है वहीं उसे लोगो को स्वस्थ बनाए रखने के लिए साफ-सफाई कर बहुत गर्व महसूस होती है । कैनिनग निवासी नाग ने केएमसी की तारीफ कर कहा कि सभी सफाई कर्मचारियों का खास ख्याल रखा जा रहा ।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned