आप शांति दें, मैं विकास दूंगी-ममता

दार्जिलिंग में कहा, किसी के बहकावे में नहीं आएं लोग

By: Rabindra Rai

Published: 13 Mar 2018, 10:45 PM IST

कोलकाता
गोरखालैण्ड आंदोलन के कारण करीब छह महीने अशान्त दार्जिलिंग की वादियों में शान्ति लौटने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहाल हिल बिजनेस समिट का मंगलवार को उद्घाटन किया। उन्होंने नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की तर्ज पर पहाड़ के लोगों से शान्ति मांगी और बदले में विकास करने का वादा किया। पहाड़ पर उन्होंने विरोधी दलों पर वार किया और लोगों को उनके बहकावे में नहीं आने की अपील की।

उत्तर बंगाल के पहाड़ी इलाकों में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए आयोजित दो दिवसीय हिल बिजनेस समिट के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री ने स्थानीय लोगों से कहा कि वह दार्जिलिंग से बहुत प्यार करती हैं। वे इसका विकास करने के लिए हमेशा तत्पर हैं। लेकिन विकास के लिए पहाड़ पर शान्ति बनाए रखना बहुत जरूरी है। आप लोग मुझे शान्ति दीजिए और हम आपलोगों को विकास देंगे। यह हमारा वादा है। भाजपा सहित अन्य राजनीतिक पार्टियों पर पहाड़ को अशान्त करने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि वे हमेशा से पहाड़ की समस्या सुलझाने की कोशिश करती रही है। उनको छोड़ कर दूसरे को दार्जिलिंग की कोई परवाह नहीं है। इसके उलट कुछ लोग अपने राजनीतिक लाभ के लिए पहाड़ को अशान्त करने की कोशिश करते रहे हैं। लेकिन आप लोग उनके बहकावे में मत आएं। दया कर आप लोग दार्जिलिंग की हरियाली और स्वच्छता को बनाए रखें। आप लोग सुनिश्चित करें कि पहाड़ पर अब कोई हिंसा नहीं होगी। हिंसा और तनाव होने से कुछ राज नेताओं को लाभ हो सकता है। लेकिन दार्जिङ्क्षलग और यहां के लोगों को कोई लाभ नहीं होगा। पहाड़ के युवक रोजगार पाने के लिए बेताब हैं। उन्हें रोजगार मुहैया कराना के लिए रोजगार सृजन करने वाले उद्योग लगाने होंगे।
- 100 करोड़ देने का की घोषणा

इस दौरान मुख्यमंत्री ने पहाड़ पर रोजगार सृजन करने वाले उद्योग लगाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि पहाड़ पर रोजगार के अवसर बढ़ाने वाले उद्योग को बढ़ावा देने के लिए उनकी सरकार 100 करोड़ रुपए देगी। उन्होंने कहा कि पहले हम इसकी शुरूआत कर रहे हैं। हमारी सरकार स्थानीय लोगों को रोजगार मुहैया कराने लिए पूरी तरह से तैयार है। पहाड़ पर कृषि आधारित उद्योग, हॉर्टीकलचर, खाद्य प्रस्संकरण जोन, ओर्किड और सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग की अपार संभावनाएं हैं। इन क्षेत्रों में अधिक रोजगार का सृजन होता है। उद्योगपतियों की ओर से पहाड़ के लोगों को भरोसा दिलाया कि वे भी स्थानीय लोगों के साथ पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने सम्मेलन में उपस्थित उद्योगपतियो से बैठक में उपस्थित रहने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि सीआईआई पहाड़ के लिए विशेष कर पानी की समस्या से जूझने वाले पहाड़ के क्षेत्र के लिए एक एक्शन प्लान बनाने वाली है।
- दार्जिलिंग में निवेश करेगा जापान

हिल बिजनेस समिट के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जापान दार्जिलिंग में निवेश करना चाहता है। उसने क्षेत्र में चाय उद्योग में निवेश करने की इच्छा जाहिर की है। उन्होंने कहा कि दार्जिलिंग के युवा बहुत ही कार्य कुशल है। उनमें बहुत क्षमता है। उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जा सकता है। यहां आईटी उद्योग की बहुत संभावनाएं हैं। इसके मद्देनजर कलिम्पोंग और दार्जिङ्क्षलग में दो आईटी पार्क बनाए जाएंगे। इसे कर्सियंाग और मिरिक में भी स्थापित किया जा सकता है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned