अंतरराष्ट्रीय सीमा: बीएसएफ का शून्य तस्करी अभियान

पश्चिम बंगाल में भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने शून्य तस्करी अभियान छेड़ दिया है। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर की तरफ से यह अभियान चलाया जा रहा है। बल के जवान संकल्पबद्ध होकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। इसका नतीजा यह है कि जवानों ने एक बांग्लादेशी तस्कर को मार गिराया।

By: Rabindra Rai

Updated: 07 Sep 2020, 06:04 PM IST

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने शून्य तस्करी अभियान छेड़ दिया है। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर की तरफ से यह अभियान चलाया जा रहा है। बल के जवान संकल्पबद्ध होकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। इसका नतीजा यह है कि जवानों ने एक बांग्लादेशी तस्कर को मार गिराया। अधिकारियों के मुताबिक जवानों ने राज्य के मालदह जिला स्थित गोपालपुर चौकी के पास इस काम को अंजाम दियाा। उन्होंने कहा कि मारा गया तस्कर फेनसेडिल की बोतलों की तस्करी करने का प्रयास कर रहा था और उसके पास से खांसी की दवा की 75 बोतलें बरामद हुई हैं।
--
हो रहे मंसूबों में नाकाम
24 वीं बटालियन सीमा सुरक्षा बल के कमांडेन्ट अनिल कुमार होटकर ने बताया कि मुस्तैद जवानों की तत्परता के कारण तस्कर अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पा रहे है। सीमा सुरक्षा बल के अनुसार अगर ड्यूटी पर तैनात जवान आत्मरक्षा में फायर नहीं करता तो 10-12 तस्कर जवान की ही हत्या कर देते।
--
इस दवा से नशा करते युवा
बीएसएफ की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक फेनसेडिल कोडिन मिश्रित खांसी की दवा है और पड़ोसी देश में शराबबंदी की वजह से इसका दुरुपयोग नशा करने के लिए किया जाता है। इस दवा से युवा नशा करते हैं और नशे के लिए वे निर्धारित मात्रा से अधिक इस दवा का सेवन करते हैं।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned