एक लेखापाल ऐसा भी, जिसकी भूख मिटती है सिर्फ पैसे से, जानिए कैसे

कोण्डागांव के जनपद पंचायत में मनरेगाा शाखा में कार्यरत लेखापाल नावेंदू तिवारी की शिकायत सरपंचों ने मंत्री केदार कश्यप से की है।

By: Badal Dewangan

Published: 07 Jun 2018, 11:45 AM IST

कोण्डागांव. जनपद पंचायत कोण्डागांव के एक दर्जन से अधिक संरपचों ने जनपद के मनरेगा शाखा में कार्यरत लेखापाल नावेंदू तिवारी की शिकायत मंत्री केदार कश्यप से की है।

सचिव व रोजगार सहायकों को बार-बार पैसे की मांग करते हुए परेशान करता है
ग्रामीणों का कहना है कि एकाउंटेंट तिवारी उनसे व सचिव व रोजगार सहायकों को बार-बार पैसे की मांग करते हुए परेशान करता है। इससे वे अब तंग आ चुके हैं। सरपंचों ने मंत्री को सौंपे शिकायती पत्र में लेख किया है कि, किसी भी सरकारी फाइल को आगे बढ़ाने से पहले वह पैसे की मांग करता है।

नौकरी से निकलवाने की बात कहते भी जबरिया पैसे की वसूली करता है
इसके बाद ही लेखापाल के माध्यम से आगे जाने वाली फाइल आगे जाती है। सरपंचों ने मंत्री केदार से मिलकर कहा कि लेखापाल तिवारी रोजगार सहायक सहित अन्य को नौकरी से निकलवाने की बात कहते भी जबरिया पैसे की वसूली करता आ रहा है। इससे सभी परेशान हो चुके हैं।

सीईओ से शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से बढ़ा इस घूसखोर का रौब
इस मामले की जानकारी पहले भी सीईओ को दी गई थी पर कोई उचित कार्यवाही नहीं होने से लेखापाल का रौब बढ़ता ही जा रहा है। वह आए दिन परेशान करता रहता है।

सीईओ व पीओ के नाम पर भी वसूली
सरपंचों ने लेख किया है कि लेखापाल कार्यक्रम अधिकारी के नाम का सहारा लेते हुए भी पैसे की मांग करता है। नए रोजगार सहायकों को सीआर भरने के नाम पर तो अन्य तरह से मानसिक रूप से परेशान कर रहा है। इस पर उचित कार्यवाही करे, जिससे कि हम लोग अनावश्यक मानसिक व आर्थिक परेशानी से बच सके। लेखपाल तिवारी ने कहा कि उन पर लगे आरोप गलत है, उन्हें फंसाया जा रहा है।

अभी शिकायत के संबंध में मुझे जानकारी नहीं है
जनपद पंचायत के सीईओ डिगेश पटेल ने इस बारे में चर्चा करने पर उन्होनें बताया कि, अभी शिकायत के संबंध में मुझे जानकारी नहीं है। यदि ऐसा हो तो जांच करवाकर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Badal Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned