अस्पताल में इलाज के बजाय सिर्फ देते हैं यह सलाह, दर्जनों मरीजों को दिखा चुके हैं बाहर का रास्ता

ऑपरेशन के लिए मरीज व उनके परिजनों को अन्य स्थानों पर जाना उनकी मजबूरी हैं। किसी भी डाक्टर ने अब तक ज्वाइंनिग नहीं दी  हैं।

By: ajay shrivastav

Published: 22 Aug 2017, 07:07 PM IST

कोंडागांव. डाक्टरों की कमी झेल रहे जिला हास्पिटल में एनिस्थिसिया विशेषज्ञ नहीं होने के चलते यहां आने वाले आपरेशन के बड़े मामले लगातार रेफर किए जा रहे हैं। यहां कुछ समय पहले तक जो आपरेशन आसानी से हो जाया करते थे अब वे नहीं हो पा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक सिजेरियन डिलवरी के साथ छोटे ऑपरेशन ही यहां ईकॉम प्रशिक्षित डाक्टरों की मौजूदगी में किये जा रहे हैं, लेकिन जनरल एनिस्थिसिया दिए बिना न किऐ जा सकने वाले आपरेशन यहां पिछले कई महीनों से बंद हैं।

परिजनों को दे रहे यह सलाह
ऐसा नहीं हैं कि यहां इस तरह के मरीजों का आना ही बंद हो गया हो, लेकिन यहां केवल सलाह व जानकारी दी जा रही हैं ऑपरेशन के लिए मरीज व उनके परिजनों को अन्य स्थानों पर जाना उनकी मजबूरी हैं। बताया जा रहा है कि यहां अब तक तीन दर्जन से अधिक मरीजों को बाहर का रास्ता दिखाया जा चुका हैं। दरअसल जिला हॉस्पिटल में पदस्थ रहे एनिस्थिसिया विशेषज्ञ सहित दो अन्य डाक्टरों ने हास्पिटल से तौबा कर अन्य जगहों पर ज्वाइनिंग दे चुके हैं।

प्रशासन ने भर्ती के लिए की थी पहल
जिला हास्पिटल में डाक्टरों की कमी पूरा करने के लिए पहले ही जिला प्रशासन ने डाक्टरों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी कर दिया था। इसमें नियुक्त होने वाले डाक्टरों को नियमित डाक्टरों की तुलना में दोगुनी राशि यानी मोटे पैकेज के साथ नियुक्ति पत्र भी दिया जाना था। प्रशासन की इस पहल के बाद आधा दर्जन डाक्टरों ने ही इस संबंध में हास्पिटल प्रबंधन से पूछताछ तो की, लेकिन किसी भी डाक्टर ने अब तक अपनी ज्वाइंनिग नहीं दी हैं।

विशेषज्ञ डॉक्टरों की है कमी
जिला हास्पिटल के सिविल सर्जन डॉ. एसपी वारे ने बताया कि डाक्टरों की कमी को पूरा करने प्रक्रिया चल रही हैं, हास्पिटल में विशेषज्ञ डाक्टरों की कमी है जिसके चलते ऑपरेशन भी प्रभावित हो रहे हैं।

ajay shrivastav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned