दूसरे राज्यों से चुनाव ड्यूटी पर आए सैनिकों को नक्सलियों व IED ब्लास्ट से निपटने की दी गई ट्रेनिंग

लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण ढ़ंग से संचालन के लिए दूसरे राज्यों से आए सुरक्षा बलों को बस्तर के जंगलों में भेजा गया है

By: Deepak Sahu

Updated: 04 Apr 2019, 09:41 AM IST

कोंडागांव. पहले चरण के लोकसभा चुनाव के लिए बस्तर के क्षेत्रों में सुरक्षा संबंधी तैयारियां शुरू हो चुकी है। लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण ढ़ंग से संचालन के लिए दूसरे राज्यों से आए सुरक्षा बलों को बस्तर के जंगलों में भेजा गया है।

बाहर से आए सुरक्षा बलों को इन्स्टीटयूट आफ आईईडी मैनेजमेन्ट सीआरपीएफ पुणे से आए किशोर कुमार और द्वितीय कमान अधिकारी की टीम प्रशिक्षण दे रहे हैं। वहां पहुंचे सुरक्षा कर्मियों की कंपनी को टीम के द्वारा माओवादियों से निपटने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है साथ ही उन्हे आईईडी विस्फोटक से बचाव से सम्बन्धित जानकारी भी दी जा रही है।

यह प्रशिक्षण बस्तर के सभी जिलों में सुरक्षा बलों को दी जा रही है। जिसमें 1 अप्रैल को नारायणपुर, 2 अप्रैल को कोण्डागांव, मर्दापाल आदि इलाके में तैनात कम्पनियों के जवानों को सीआरपीएफ-188 बटालियान के कमाण्डेंट कवीन्द्र चन्द , पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार एवं द्वितीय कमान अधिकारी सुरेश सिंह ने आईईडी (विस्फोटक) की जानकारी विस्तृत रूप मे दी गई । जिससे बाहर से आये हुए सुरक्षा बलों के जवानो को माओवादियो द्वारा बल को आईईडी से कैसे नुकसान पहुंचाया जाता है। उनकी छानबीन एवं बचाव तथा अलग- अलग प्रकार के आईईडी के बारे मे मार्गदर्शित कर जागरूक कराया गया । इस ट्रेनिंग का प्रमुख उद्देश्य कोंण्डागाव एवं जिला नारायणपुर मे लोकसभा चुनाव-2019 के दौरान माओवादियो के द्वारा सुरक्षाबलो के जवानो को आईईडी से नुकसान न हो।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned