इस जिले में पहली बार धर्मानुसार पारंपरिक तौर पर कराया गया सामूहिक विवाह

इस जिले में पहली बार धर्मानुसार पारंपरिक तौर पर कराया गया सामूहिक विवाह

Badal Dewangan | Updated: 25 Jun 2018, 02:29:16 PM (IST) Kondagaon, Chhattisgarh, India

दाम्पत्य जीवन शुरू करने के लिए भेंट स्वरूप आलमारी एवं बर्तन दिया गया। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 11 लोगों को रसोई गैस वितरण किया गया।

बोरगांव/फरसगांव. छग शासन की एक महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत विकासखंड मुख्यालय फरसगांव में महिला बाल विकास विभाग एवं अन्य विभागों की सहभागिता से दिनांक 23 एवं 24 जून को अस्पताल मैदान में जिला स्तरीय सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन हुआ। उक्त सामुहिक विवाह कार्यक्रम में कुल 210 जोडिय़ां विवाह बंधन में बंधने हेतु पंजीयन कराया था। शासन द्वारा इन जोड़ों को स्थानीय पारंपरिक रिती रिवाजों से विवाह संपन्न हुआ।

वैदिक रिती रिवाजों से हुई शादी
शादी समारोह में पारंपरिक रिती रिवाजों के साथ-साथ नौ जोड़ो का वैदिक रिती रिवाजों से विवाह संपन्न करवाया गया। उक्त जोड़ों को विवाह मंडप से अलग फरसगांव परियोजना प्रांगण में संम्पन्न हुआ। जिसमें एक जोड़ा ईसाई समुदाय का था।

पहली बार पुरी स्थानीय पारंपरिक रूप से संपन्न हुआ
यह सामुहिक विवाह जिले में पहली बार पुरी स्थानीय पारंपरिक रूप से संपन्न हुआ। नवीन जोड़ों के साथ बराती व घराती दोनों शादी में शरीक हुए। ऑटो में दुल्हे गोंडवाना भवन से विवाह मंडप तक पहुंचे और सभी दुल्हों का मंडप विवाह स्थल में शानदार स्वागत हुआ।

यह योजना के तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की 18 वर्ष से अधिक आयु की 2 कन्याओं को योजना के अंतर्गत 13000 की आर्थिक सहायता सामग्री के रूप में देने का प्रावधान है। जो कन्या की आवश्यकता अनुसार निर्धारित होती है सामूहिक विवाह आयोजन के लिए प्रति कन्या राशि रुपए 2000 तक व्यय की जाती है। इसी तरह योजना अंतर्गत प्रत्येक कन्या के विवाह हेतु अधिकतम 15000 तक की आर्थिक सहायता दी जाती है।

विवाह कार्यक्रम के ये रहे साक्षी
उक्त कार्यक्रम में क्षेत्रिय विधायक संतराम नेताम, कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम, जिला पंचायत अध्यक्ष देवचंद मातलाम, जिला कलक्टर नीलकंठ टेकाम, अपर कलक्टर धनंजय नेताम, झाड़ी राम सलाम, सेवक राम नेताम, जनपद सीईओ आरके वट्टी, जनपद फरसगांव अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित वरिष्ठ व गणमान्य नागरिकों के द्वारा नव विवाहित जोड़ों को सुखी दाम्पत्य जीवन हेतु आशिर्वाद देकर नए दाम्पत्य जीवन शुरू करने के लिए भेंट स्वरूप आलमारी एवं बर्तन दिया गया। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 11 लोगों को रसोई गैस वितरण किया गया। कृषि विभाग द्वारा नए जोड़ों को मक्का बीज, स्प्रेयर, पैडाविडर भी बांटा गया। उद्यान विभाग द्वारा नव दंपत्तियों को नारियल के पौधे एवं अन्य छोटे पौधे एवं बिजली विभाग द्वारा सभी को एक-एक बल्ब दिया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned