खदान में दुर्घटना होने पर कंपनी ने ड्राइवर को गाड़ी से उतारा, बिना पूर्व सूचना विरोध में 12 घंटे काम बंद

- ड्राइवरों से कंपनी का स्थानीय प्रबंधन परेशान, पुलिस की हस्तक्षेप से मामला शांत

By: Bhupesh Tripathi

Published: 13 Feb 2021, 02:26 PM IST

Korba, Korba, Chhattisgarh, India

कोरबा. एसईसीएल की मानिकपुर कोयला खदान में आउटसोर्सिंग से मिट्टी खनन करने वाली ठेका कंपनी नारायणी संस प्राइवेट लिमिटेड की मुश्किलें कम नहीं हो रही है। एक ड्राइवर को गाड़ी से उतारे जाने से नाराज अन्य ड्राइवरों ने 12 घंटे तक काम बंद कर दिया। इससे कंपनी को लाखों रुपए का नुकसान हुआ है।

बताया जाता है कि हफ्तेभर पहले एसईसीएल की मानिकपुर कोयला खदान में एक ड्राइवर ने डाला उठाकर स्केनिया गाड़ी को चला दिया था। इससे गाड़ी को नुकसान हुआ। पता चलने पर कंपनी ने ड्राइवर ओमप्रकाश को गाड़ी से उतार दिया। उसकी ड्यूटी को बंद दिया। ठेका कंपनी दुर्घटना के कारण की आंतरिक स्तर पर जांच कर रही है। इस बीच ओमप्रकाश की ड्यूटी बहाल करने की मांग को लेकर ड्राइवर एकजुट हो गए। बुधवार की रात करीब 10 बजे मानिकुपर खदान क्षेत्र में नारायणी संस की कैंप के बाहर गाड़ियों को खड़ी कर दिया। ठेका कंपनी ने अपनेस्तर ड्राइवरों को मनाने का प्रयास किया। लेकिन वे नहीं माने। गतिरोध शुरू हो गया।

korba_1.jpg

ड्राइवरों की कंपनी के साथ तानातनी चल ही रही थी कि बुधवार की रात मानिकपुर कॉलरी एरिया में रहने वाला जितेन्द्र रत्नाकर कैंप तक पहुंच गया। ठेका कंपनी के टाइम कीपर अविनाश पलेरिया की ओर से पुलिस को बताया गया है कि जितेन्द्र ने कैंप पहुंचकर कंपनी के काम में बाधा डाला। एसईसीएल और ठेका कंपनी के कर्मचारियों को गाली दिया। बंद गाड़ियों को चालू करने पर मारपीट करने की धमकी दिया। कंपनी की ओर से इस घटना की भी जानकारी मानिकपुर चौकी को दी। गुरुवार को पुलिस ड्राइवर ओमप्रकाश को पकड़कर चौकी ले गई। इसकी जानकारी मिलते ही ड्राइवर एकजुट होकर मानिकपुर चौकी पहुंच गए। कंपनी की कार्रवाई को एक तरफा बताया। ओमप्रकाश की ड्यूटी को बहाल करने की मांग की। इसे लेकर सीएसपी योगेश साहू, थानेदार दुर्गेश शर्मा की उपस्थिति में ड्राइवरों की ठेका कंपनी के स्थानीय अधिकारियों के साथ बातचीत हुई। इसमें कंपनी की ओर से बताया गया कि ओमप्रकाश को काम से नहीं हटाया गया है। बल्कि घटना की जांच की जा रही है। जांच अवधि में निलंबित किया गया। पुलिस की हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। गुरुवार दोपहर करीब दो बजे के बाद ड्राइवर काम पर लौट गए।

खदान में दुर्घटना होने पर कंपनी ने ड्राइवर को गाड़ी से उतारा, बिना पूर्व सूचना विरोध में 12 घंटे काम बंद

आए दिन होने वाली विवाद से कंपनी परेशान
नारायणी संस प्राइवेट लिमिटेड एसईसीएल की मानिकपुर खदान में मिट्टी खनन कर रही है। इसके अलावा कंपनी कुसमुंडा में भी मिट्टी खनन का काम कर रही है। कंपनी को दोनों साइड पर मजदूर परेशान कर रहे हैं। इससे कंपनी लक्ष्य के अनुसार खनन नहीं कर सक रही है। उसे आर्थिक नुकसान हो रहा है।

कोरबा से राजेश कुमार की रिपोर्ट

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned