सात लाख रुपए की धोखाधड़ी का आरोपी सरकंडा बिलासपुर से गिरफ्तार

- पुलिस ने घेराबंदी करके लिलेश को पकड़ लिया। उसे कोरबा की कोर्ट में पेश किया गया।

By: Vasudev Yadav

Published: 18 May 2019, 08:02 PM IST

कोरबा. बुक स्केन करने का झांसा देकर सात लाख 20 हजार रुपए की ठगी के आरोप में पुलिस ने लिलेश पटेल नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी केस दर्ज होने के बाद से फरार था। पुलिस ने बताया कि पुस्तकों को स्केन करने का काम दिलाने का झांसा देकर लिलेश पटेल और लोकेश देवांगन नाम के व्यक्ति ने पुरानी बस्ती में रहने वाले मनीष शर्मा से सम्पर्क किया। सेम टाइम कंपनी से काम दिलाने का झांसा दिया। इसके बदले अलग-अलग तिथि पर सात लाख 20 हजार रुपए की राशि नकद और चेक के जरिए प्राप्त किया।

Read More : सराफा दुकान में डकैती का तीसरा आरोपी गिरफ्तार, हथियार की नोंक पर सोनालिया ज्वेलर्स में दिया था घटना को अंजाम

मनीष को पुस्तकों की स्केनिंग का काम नहीं मिला। लिलेश और लोकेश ने पैसे भी नहीं लौटाए। ठगी के शिकार व्यक्ति ने पतासाजी की तो कंपनी के दफ्तर में ताला लगा हुआ मिला। मनीष ने घटना की शिकायत कोतवाली थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस चार सौ बीसी का केस दर्ज कर जांच कर रही थी। दोनों आरोपी फरार थे। लिलेश के सरकंडा बिलासपुर में छिपे होने की सूचना मिली थी।

पुलिस की एक टीम बिलासपुर भेजी गई थी। पुलिस ने घेराबंदी करके लिलेश को पकड़ लिया। उसे कोरबा की कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट के आदेश पर आरोपी को न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया। लिलेश जांजगीर चांपा जिले के गांव हरेठी सक्ती का मूल निवासी है। पुलिस से बचकर बिलासपुर में रहता था।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned