बड़ी कार्रवाई : एसईसीएल के कांटे पर निजी कंपनी के मजदूर तौल रहे थे कोयला, 16 नंबर कांटा सील, 52 गाडिय़ां पकड़ाई

बड़ी कार्रवाई : एसईसीएल के कांटे पर निजी कंपनी के मजदूर तौल रहे थे कोयला, 16 नंबर कांटा सील, 52 गाडिय़ां पकड़ाई

Vasudev Yadav | Updated: 15 Jun 2019, 08:07:07 PM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

खदान से कोयले (Coal) की अफरा-तफरी की सूचना पर राज्य स्तरीय उडऩदस्ता टीम ने प्रशासन के साथ मिलकर गेवरा दीपका क्षेत्र में बड़ी संयुक्त कार्रवाई की है। दीपका खदान (Dipka Mine) के 16 नंबर कांटा को सील कर दिया है। निजी कंपनी की चाकाबुड़ा स्थित कोल वाशरी (Coal washery) से बिना ट्रांजिट पास रेलवे साइडिंग तक कोयला (Coal) परिवहन करते गाडिय़ों को पकड़ा है। टीम ने चाकाबुड़ा वाशरी के कांटाघर को भी सील कर दिया है। 52 गाडिय़ों को पकड़ा है।

कोरबा. खदान से कोयले की अफरा-तफरी की जांच करने शनिवार को माइिनंग, राजस्व और पर्यावरण विभाग की टीम गेवरा दीपका पहुंची। टीम ने खदान (Mine) से कोयला परिवहन की जांच की। दीपका खदान (Dipka Mine) के 16 नंबर कांटाघर पर एसईसीएल (SECL) के कर्मचारी नदारत मिले। निजी कंपनी के मजदूर कोयला (Coal) तौलते पकड़े गए। उनके पास से कोयला (Coal) परिवहन के लिए जरूरी ट्रांजिट पास भी मिला। टीम ने पूछताछ के बाद 16 नंबर कांटाघर को सील कर दिया है।

टीम ने चाकाबुड़ा निजी कंपनी के कोल वाशरी (Coal washery) मेंं दबिश दी। कंपनी के कांटाघर की जांच की। कांटाघर से रेलवे साइडिंग तक कोयला (Coal) परिवहन करने वाली गाडिय़ों पर ट्रांजिट पास नहीं मिला। बिना ट्रांजिट पास की गाडिय़ां रेलवे साइडिंग तक कोयला (Coal) परिवहन करते पकड़ी गई। परिहन में गड़बड़ी पाए जाने पर टीम ने चाकाबुड़ा वाशरी के कांटा को सील कर दिया।

बड़ी कार्रवाई : एसईसीएल के कांटे पर निजी कंपनी के मजदूर तौल रहे थे कोयला, 16 नंबर कांटा सील, 52 गाडिय़ां पकड़ाई

52 गाडिय़ां पकड़ी गई
टीम ने अलग-अलग स्थानों से 52 गाडिय़ोंं को जब्त किया है। गाडिय़ों के कागजात की जांच की जा रही है। अधिकारियों ने कार्रवाई देर रात तक जारी रहने की बात कही है।
कुसमुंडा में रोकी गई गाडिय़ां
गेवरा दीपका में सुबह 11 बजे से चालू हुई टीम की कार्रवाई देर शाम तक जारी रही। टीम ने कोयला (Coal) परिवहन से संबंधित कई गड़बडिय़ों को पकड़ा है। सबूत जुटाकर आगे की कार्रवाई करने की बात कही है। कुसमुंडा खदान (Kusmunda mine) से भी निजी कंपनी को कोयला (Coal) परिवहन करने वाली गाडिय़ों को रोका गया है। गाडिय़ों को पहले कुसमुंंडा खदान(Kusmunda mine) में खड़ा किया। जगह की कमी पडऩे पर कुसमुंडा हेलीपेड पर गाडिय़ां खड़ी की गई हैं। टीम ने कनबेरी स्थित स्वास्तिक पॉवर पर भी छापामार (Raid) कार्रवाई की। एक नलकूप को सील कर दिया है।

बड़ी कार्रवाई : एसईसीएल के कांटे पर निजी कंपनी के मजदूर तौल रहे थे कोयला, 16 नंबर कांटा सील, 52 गाडिय़ां पकड़ाई

टीम में 30 से अधिक कर्मचारी व 100 से अधिक पुलिस कर्मी शामिल
टीम में खनिज विभाग (Mineral department) के 12, राजस्व विभाग के 17, पर्यावरण संरक्षण मंडल के आधा दर्जन से अधिक अधिकारी कर्मचारी शामिल हैं। कार्रवाई में औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग को भी शामिल किया गया है। कार्रवाई का नेतृत्व माइनिंग के ज्वाइंट डायरेक्टर जी महेश बाबू कर रहे हैं। दौरान सुरक्षा के लिए पुलिस की ओर 100 से अधिक सुरक्षाकर्मी मुहैया कराए गए हैं।
इन बिंदुओं पर चल रही जांच
टीम पर्यावरण के मानक, कोयले के भंडारण की क्षमता, जल उपयोगिता और खनिज नियमों के पालन की जांच कर रही है।

  • उडऩदस्ता टीम ने गेवरा दीपका (Gevra Dipka) में कार्रवाई की है। दीपका में एक कांटाघर को सील किया गया है। 50 से अधिक गाडिय़ां पकड़ी गई है। जांच चल रही है- किरण कौशल, कलेक्टर, कोरबा
  • कार्रवाई के लिए सुरक्षा मांगी गई थी। टीम को सुरक्षा मुहैया कराई गई है। कार्रवाई चल रही है- जितेन्द्र सिंह मीणा, एसपी, कोरबा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned