लापरवाही की हद, बिना सुरक्षा गार्ड के दो कर्मियों के भरोसे उत्तर पुस्तिका को पहुंचाया जा रहा बीयू

लापरवाही की हद, बिना सुरक्षा गार्ड के दो कर्मियों के भरोसे उत्तर पुस्तिका को पहुंचाया जा रहा बीयू

Shiv Singh | Publish: Mar, 14 2018 12:26:05 PM (IST) Korba, Chhattisgarh, India

इस वर्ष जिले के पीजी कॉलेज व एमडीपी कटघोरा को उत्तर पुस्तिकाओं के संग्रहण के लिए पहली बार संग्रहण केन्द्र बनाया गया है।

कोरबा . बिलासपुर विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों की मुख्य परीक्षाओं की आंसरसीट के परिवहन में सुरक्षा मानकों को नजरअंदाज किया जा रहा है। इस वर्ष जिले के पीजी कॉलेज व एमडीपी कटघोरा को उत्तर पुस्तिकाओं के संग्रहण के लिए पहली बार संग्रहण केन्द्र बनाया गया है। जहां से बीयू के वाहनों द्वारा उत्तरपुस्तिकाओं पर लिखते हैं उनका परिवहन बिलासपुर विश्वविद्यालय तक किया जाता है। हैरानी वाली बात यह है कि इसके लिए जो वाहन बीयू द्वारा भेजे जाते हैं। उसमें कोई सुरक्षाकर्मी मौजूद तक मौजूद नहीं है।

पिछले वर्ष की परीक्षाओं में बीयू में पर्चा लीक कांड से लेकर कई ऐसे मामले उजागर हुए हैं, जिनमें छोटे कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी। पर्चे भी रद्द करने पड़े जिसके कारण परीक्षा परिणाम जारी होने में देरी भी हुई। पूरा सत्र एक तरह से लेट चला। वर्तमान परिस्थतियों को देखने से साफ है कि बिलासपुर विश्वविद्यालय के अधिकारी पिछली गलतियों से कोई सीख नहीं ले रहे हैं।

Read More : 70 मीटर केबल वायर को काटकर ले जाने के मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार

नियमत: उत्तर पुस्तिकाओं को परीक्षा संपन्न होने के पश्चात परीक्षा केन्द्र में नहीं रखा जाना चाहिए। इन्हें जल्द से जल्द संग्रहण केन्द्र भेजा जाना चाहिए यदि ऐसा न हो पाए तो इन्हें नज़दीकी थाने में रखा जाना चाहिए। लेकिन जिले में इस नियम की भी अनदेखी हो रही है। वर्तमान में कॉलेजों की परीक्षाएं तीन पालियों में संचालित हैं। अंतिम पाली की परीक्षा शाम के छ: बजे समाप्त होती है। संग्रहण केन्द्र व लीड कॉलेज के प्राचार्य डॉ एसके सक्सेना कहते हैं कि दिन में होने वाले पर्चों की उत्तरपुस्किाओं को तो संग्रहण पहुंचा दिया जाता है। लेकिन देर शाम समाप्त होने वाली परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाएं नहीं पहुंच पा रही हैं।
केवल दो कर्मचारी और एक वाहन

पीजी कॉलेज में मंगलवार को बीयू की वाहन उत्तरपुस्किाओं का बंडल लेने पहुंची। जिसके साथ केवल दो कर्मचारी थे। वाहन चालक रवि शंकर से जब पूछा गया कि क्या साथ में कोई पुलिस व गार्ड होता है? तो उसने साफतौर पर बताया कि केवल हम दोनो ही उत्तरपुस्तिकाएं लेकर बीयू तक पहुंचाते हैं। अन्य कोई भी हमारे साथ नहीं होता।

सीजी बोर्ड के प्रश्नपत्रों की सुरक्षा अधिक
स्कूल की परीक्षाओं में प्रश्नपत्र लाने के लिए माशिमं तक का फेरा लगाना पड़ता है। जिले के संयुक्त कलेक्टर स्तर के अधिकारी पूरी सुरक्षा के साथ प्रश्नपत्र अपने साथ लाते हैं। इसके बाद पुलिस की निगरानी में इसे समन्वय केन्द्र से सील पैक करके संबंधित थानो में जमा किया जाता है। जहां से परीक्षा वाली सुबह स्कूल के कर्मचारी थाने से ही प्रश्न पत्र ले जाते हैं। यह काम भी पटवारी की निगरानी में होता है, जबकि कॉलेज में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं होती। उत्तरपुस्तिकाओं की तरह ही प्रश्नपत्रों का भी वितरण परीक्षा केन्द्रों को बीयू द्वारा किया जाता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned