बारदाना दुकान में आग लगाकर हो गया था गायब, पांच से छह लाख का हुआ था नुकसान, पुलिस ने आरोपी को ऐसे पकड़ा

बारदाना दुकान में आग लगाकर हो गया था गायब, पांच से छह लाख का हुआ था नुकसान, पुलिस ने आरोपी को ऐसे पकड़ा

Vasudev Yadav | Updated: 18 Aug 2019, 07:51:13 PM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

Arson Case : सीतामणी की एक बारदाना दुकान में आग लगाने वाला युवक को पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से पकड़ा है। युवक ने प्लास्टिक की पन्नी को जलाकर बारदाने की दुकान के भीतर फेंक दिया था। पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह स्वीकार किया है।

कोरबा. सीतामणी की एक बारदाने की दुकान में 11 अगस्त की रात एक युवक ने आग (Fire) लगा दी थी। इसमें पांच से छह लाख रुपए का बारदाना जलकर (Fire) राख हो गया था। दुकानदार रामशरण साहू ने घटना की रिपोर्ट कोतवाली थाने में दर्ज कराई थी।

पुलिस ने बारदाने की दुकान में लगी सीसीटीवी (CCTV) के फुटेज की जांच की। इसमें 11 अगस्त की रात 11.58 बजे एक युवक प्लास्टिक की पन्नी को लेकर दुकान के आसपास मंडरा रहा था। युवक की गतिविधियां संदिग्ध थी। पुलिस ने सीसीटीवी (CCTV) की मदद से युवक के बारे में पता लगाया। युवक की पहचान ग्राम नंदेली जिला जांजगीर चांपा के रहने वाले हेमंत बसौड़ से की गई ।

Read More : सावधान : SCCL की वेबसाइट पर 88 हजार पदों के लिए बम्पर भर्तियां, SECL ने किया भर्ती का खंडन
पुलिस को जांच में पता चला कि हेमंत घटना के दिन सीतामणी के बसोड़ मोहल्ले में स्थित अपने सुसराल पहुंचा था। हेमंत की तलाश में पुलिस बसोड़ मोहल्ला पहुंची। वह घर मेें नहीं मिला। ग्राम नंदेली में भी पुलिस ने हेमंत की खोजबीन की। वह गायब मिला। तब से पुलिस का हेमंत पर संदेह गहरा हो गया था। शनिवार को हेमंत बसोड़ मोहल्ला स्थित अपने ससुराल पहुंचा था।

पुलिस ने घेराबंदी करके हेमंत को पकड़ लिया। उसने पूछताछ में बारदाने की दुकान में आग (Fire) लगाना स्वीकार किया। बताया कि प्लास्टिक की पन्नी को जलाने के बाद रोशनदान से गोदाम में फेंक दिया था। पुलिस से बचने के लिए घटना के बाद से फरार था।

नशेड़ी है आरोपी
घटना का कारण स्पष्ट नहीं है। पुलिस को पूछताछ में पता चला है कि हेमंत आदतन नशेड़ी है। घटना के दिन भी आरोपी नशे में था। घटना के दिन बारदाना दुकान के आसपास घूम रहा था।

माहौल जानने पहुंचा था सीतामणी
आरोपी हेमंत दुकान में आग (Fire) लगाने के बाद से फरार था। वह अपने घर भी नहीं पहुंचा था। आगजनी के बाद का माहौल जानने के लिए बसोड़ मोहल्ला पहुंचा था।

आग बुझाने में लग गए थे पांच घंटे
बोरे की दुकान में लगी आग को बुझाने में दमकल कर्मियों को लगभग पांच घंटे का वक्त लगा था। बालको, सीएसईबी, निगम और एसईसीएल की दमकल के पानी से आग (Fire) को बुझाया गया था।

Chhattisgarh Crime से जुड़ी खबरें यहां पढि़ए...

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned