मानिकपुर ने हासिल किया उत्पादन का लक्ष्य, जानें 27 मार्च तक कंपनी ने कितना मिलियन टन किया कोयला खनन

- एसईसीएल की मानिकपुर खदान में 76.22 मिलियन कोयले का अनुमानिता भंडार

By: Vasudev Yadav

Updated: 29 Mar 2019, 11:45 AM IST

कोरबा. वित्तीय वर्ष समाप्त होने के पांच दिन पहले एसईसीएल की मानिकपुर परियोजना ने उत्पादन लक्ष्य को हासिल कर लिया है। २७ मार्च तक कंपनी ने ४.९ मिलियन टन कोयला खनन का लक्ष्य पूरा कर लिया। इसके साथ ही मानिकपुर कोरबा एरिया का पहला खदान बन गया है, जो लक्ष्य तक पहुंचा है।

चालू वित्तीय वर्ष में एसईसीएल ने मानिकपर ओपेन कॉस्ट खदान से ४.९ मिलियन टन कोयला उत्पादन का लक्ष्य रखा था। इसके लिए प्रबंधन लगा हुआ था। बुधवार दोपहर तक खदान से उत्पादन लक्ष्य को पूरा कर लिया गया। इसके बाद कोयला खनन बंद कर दिया गया है। अब नए वित्तीय वर्ष एक अप्रैल से दोबारा कोयला खनन चालू किया जाएगा।

Read More : पुरुष नसबंदी में प्रदेश में दूसरे नंबर पर कोरबा, पहले नंबर व सबसे नीचे कौन, पढि़ए पूरी खबर...
वित्तीय वर्ष २०१७- १८ में एसईसीएल की मानिकपुर खदान से ३.५ मिलियन टन कोयला खनन का लक्ष्य रखा गया था। वित्तीय वर्ष २०१८- १९ कंपनी ने लक्ष्य को १.४ मिलियन टन और बढ़ा दिया था। वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की मंजूरी के बाद मानिकपुर से बढ़ी हुई लक्ष्य को पूरा करने के लिए खनन चालू किया गया था। कंपनी बढ़े हुए लक्ष्य को पूरा करने में लगी थी।

आउट सोर्सिंग को खनन
कोरबा एरिया के अधीन संचालित मानिकपुर खदान से आउट सोर्सिंग के जरिए कोयले का खनन होता है। खदान में मिट्टी हटाने से लेकर कोयला खनन और स्टॉक तक कोयला का परिवहन निजी कंपनियां कर रही है। ठेका कंपनियों ने मजदूरों को खनन के कार्य में लगाया है।

76.22 मि. टन का भंडार
एसईसीएल की मानिकपुर खदान में ७६.२२ मिलियन कोयले का अनुमानिता भंडार है। खदान से सालाना ४.९ मिलियन कोयला खोदने की अनुमति केन्द्र सरकार ने एसईसीएल को दी है।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned