जर्जर सड़क और लचर बिजली व्यवस्था को लेकर विधायक सहित शहर के कांग्रेसी 9 को करेंगे आर्थिक नाकेबंदी

जर्जर सड़क और लचर बिजली व्यवस्था को लेकर विधायक सहित शहर के कांग्रेसी 9 को करेंगे आर्थिक नाकेबंदी

Shiv Singh | Publish: Sep, 04 2018 08:35:34 PM (IST) Korba, Chhattisgarh, India

चांपा-कोरबा-बिलासपुर मार्ग की कलेक्टर से लेकर सीएम तक शिकायत

कोरबा. जर्जर सड़क और लचर बिजली व्यवस्था को लेकर कोरबा विधायक 9 सितंबर को शहर में दो जगहों पर आर्थिक नाकेबंदी पर बैठेंगे। चांपा से कोरबा और बिलासपुर मार्ग को लेकर विधायक ने कहा कि कलेक्टर से लेकर सीएम तक शिकायत की जा चुकी है उसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है।


मंगलवार को तिलक भवन में प्रेसवार्ता में कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल ने बताया कि उक्त मार्ग की बीओटी अवधि खत्म होने के बाद इसे एनएच को हैंडओवर कर दिया गया। तब से इस सड़क की मरम्मत को लेकर पीडब्लूडी ने हाथ खींच लिया है। चांपा तक का 40 मिनट का सफर डेढ़ से दो घंटे में पूरा हो रहा है।

रोजाना जाम की स्थिति बन रही है। लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। इसे लेकर जब सीएम विकास यात्रा में कोरबा आगमन में आए थे तो उन्होनें इस मुद्दे को रखा था। लेकिन उसके बाद भी इस सड़क को लेकर प्रशासन द्वारा नहीं बनवाया जा रहा है। विधायक ने बताया कि शहर में बिजली की लचर व्यवस्था और मनमाने की बिजली बिल को लेकर भी शिकायत करने पर उच्च अधिकारी कोरबा आएं थे। उसके बाद भी समस्या सुधरी नहीं।

इन दोनों ही समस्याओं को लेकर विधायक जयसिंह अग्रवाल द्वारा नौ सितंबर को इमलीडुग्गू व दर्री बरॉज के समीप आर्थिक नाकेबंदी की जाएगी। 10 सितंबर को सुभाष चौक पर राफेल, पेट्रोल व डीजल के दामों पर वृद्धि के विरोध में धरना दिया जाएगा। 13 सितंबर को नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव भी कोरबा आ रहे हैं।


भाजपा पर साधा निशाना, शहर के गड्ढों को जानबूझकर नहीं भरवा रहे
विधायक ने भाजपा के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि शहर के प्रमुख मार्गों की हालत खराब होने के पीछे भी भाजपा के नेताओं का हाथ है। डीएमएफ फंड से राशि स्वीकृति नहीं दी जा रही है।

शहर की सड़कों के उधडऩे के सवाल पर कहा कि इन सड़कों पर प्रशासन उद्योगों के कोयलालोड भारी वाहनों को चलवाया जा रहा है इसकी वजह से सड़कों का यह हाल हुआ है। सीएसईबी चौक से बरॉज तक फोरलेन सड़क बनने में हो रही देरी पर विधायक ने कहा कि बहुत जल्द उसका काम शुरू होने वाला है।

Read more : डीजल-पेट्रोल के बाद अब रसोई गैस में लगी आग, घरेलू बजट बिगडऩे से गृहणियां परेशान


सरकार के एजेंट की तरह काम कर रहे अफसर, चुनाव निष्पक्ष मुश्किल
विधायक ने अधिकारियों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि सरकार के एजेंट की तरह काम किया जा रहा है। पूरा अमला अभी सिर्फ मोबाइल बांटने में लगा है। कामकाज ठप है। आचार संहिता लगने के बाद तीन महीने तक पूरे काम फिर से पेंडिंग हो जाएंगे। ऐसे में विधानसभा चुनाव निष्पक्ष तरह से हो सके इस पर सवालिया निशान है। विधायक ने कहा वे जल्द इसकी शिकायत आयोग से करेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned