कुमकी हाथी की चिंघाड़ सुनकर गणेश भाग रहा दूर, पांचवे दिन भी नहीं किया जा सका ट्रैंक्यूलाइज

Elephant: कुमकी हाथी की चिंघाड़ सुनकर गणेश हाथी दूर भागने लगा है। यही वजह है कि पिछले तीन दिन से गणेश लगातार मूवमेंट कर रहा है। अब वह छाल रेंज पहुंच गया है। वन विभाग के अनुसार वह आज रायगढ़ रेंज में पहुंच सकता है। लगातार उसके मूवमेंट की वजह से ट्रैंक्यूलाइज नहीं हो पा रहा है।

By: Vasudev Yadav

Published: 24 May 2020, 11:48 AM IST

कोरबा. बीते पांच दिन से एक्सपर्ट टीम और वन अमले का महकमा गणेश हाथी को ट्रैंक्यूलाइज करने के लिए पीछे-पीछे चल रहा है। हर दिन सुबह गणेश के लोकेशन के हिसाब से टीम उसके नजदीक पहुंचती है, लेकिन दूर से ही कुमकी हाथियों का चिंघाड़ सुनकर वह भागने लगता है। यही वजह है कि वह पहले कुदमुरा, फिर कोरबा-धर्मजयगढ़ के बीच पहुंचा था, और अब छाल रेंज जा पहुंचा है। शनिवार को गणेश हाथी रायगढ़ रेंज की दिशा की ओर निकला है। ऐसे में आज उसके रायगढ़ रेंज पहुंचने के आसार है। इतनी गर्मी में टीम को गणेश हाथी हर दिन छका रहा है। कई बार करीब पहुंचने के बाद भी गणेश को ट्रैंक्यूलाइज नहीं किया जा सका है। टीम हर दिन प्रयास कर रही है।

Read More: पांच घंटे तक पीछा करने के बाद ऐन मौके पर गणेश हाथी ने बदला मूवमेंट, नहीं किया जा सका ट्रैंक्यूलाइज
झुंड में शामिल नहीं होना चाहता गणेश
वन अधिकारियों ने बताया कि गणेश हाथी पिछले डेढ़ साल से ज्यादा समय से झुंड से अलग है। जैसे ही वह दूसरे हाथियों की आवाज सुनता है तो दूर भागने का प्रयास करता है। टीम कुमकी हाथी के साथ आगे बढ़ रही है। दूरी अधिक होती है, लेकिन एक हाथी दूसरे हाथी की आवाज दूर से ही सुन लेेते हैं।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned