जनता कफ्र्यू के दिन कोयला खनन बंद करने की मांग, श्रमिक संगठन सीटू ने कहा- एसईसीएल कोरोना को लेकर गंभीर नहीं

Janta Curfew: रविवार को जनता कफ्र्यू के दिन कोयला खदानों में खनन बंद करने की मांग श्रमिक संगठन सीटू ने की है।

By: Vasudev Yadav

Published: 21 Mar 2020, 02:07 PM IST

कोरबा. सीटू नेता वीएम मनोहर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जनता कफ्र्यू का आह्वान किया है। इसके तहत 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक लोगों से अपने घरों में रहने के लिए कहा गया है। मनोहर ने जनता कफ्र्यू में कोयला खदान में काम करने वाले कामगारों को भी शामिल करने की मांग की है। श्रमिक संगठन की ओर से बताया गया है कि कोरोना को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने महामारी घोषित किया है।

Read More: एसईसीएल ने कोयला उत्पादन का बनाया नया रिकार्ड, जानें एक दिन में कितना टन किया प्रोडक्शन

केंद्र और राज्य की सरकारें कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए कदम उठा रही है, लेकिन केंद्र सरकार का सार्वजनिक उपक्रम कोल इंडिया की अनुषांगिक कंपनी एसईसीएल कोरोना को लेकर गंभीरता नहीं दिखा रही है। कंपनी ने पहले बायोमेट्रिक्स हाजिरी की अवहेलना की। बाद में श्रमिक संगठनों द्वारा आवाज उठाए जाने पर बायोमेट्रिक्स हाजिरी को बंद कर मैन्यूअल हाजिरी लगाई जा रही है।

सीटू ने जनता कफ्र्यू में कोयला खदानों में काम करने वाले कोरबा जिले के लगभग 15 हजार नियमित और ठेका कर्मचारियों को शामिल करने की मांग एसईसीएल प्रबंधन से की है।

Vasudev Yadav Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned