scriptDocuments incomplete, more than 40 thousand applications returned | दस्तावेज अधूरा, लोक सेवा केन्द्रों से लौटाए गए 40 हजार से अधिक आवेदन | Patrika News

दस्तावेज अधूरा, लोक सेवा केन्द्रों से लौटाए गए 40 हजार से अधिक आवेदन

लोक सेवा केंद्रों के माध्यम से आवश्यक दस्तावेज समय पर बनाने की गारंटी की पोल खुल रही है। दस्तावेज बनाने पहुंच रहे लोगों को अधिकारी किसी ना किसी तरह से कमी बताकर अब तक लगभग 40 हजार से अधिक आवेदन को वापस कर दिया है

कोरबा

Published: January 10, 2022 02:52:21 pm

शासन ने लोगों की सुविधा और समय पर आवश्यक दस्तावेज बनाने के लिए लोक सेवा केंद्र प्रारंभ किया है। सभी तहसील, उप तहसील सहित अन्य कार्यालय में लोक सेवा केंद्र संचालित हैं। इन केंद्रों में रोजाना हितग्राहियों की लंबी कतार लग रही है। कार्यालय के बाहर घंटो खड़े होने के बाद आवेदन जमा कर रहे हैं और इसमें भी कई बार दस्तावेज में कमी बताकर आवेदनों को वापस किया जा रहा है। लोक सेवा केंद्रों में अब तक पांच लाख 78 हजार 214 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें से 40 हजार दो आवेदन को वापस कर दिया गया।

CSC korba
CSC korba

लोक सेवा केंद्र होने के बाद भी लोगों को जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, विवाह प्रमाण पत्र, रोजगार पंजीयन, लाइसेंस, पेंशन, जाती, आमदनी, निवास, वोटर आईडी, मिसल, नक्शा, खसरा सहित अन्य आवश्यक दस्तावेज बनाने के कार्यों में विलंब हो रहा है। लोगों को एक-एक दस्तावेज के लिए एक कार्यालय से लेकर दूसरे कार्यालय का चक्कर काटना पड़ रहा है। इसे लेकर लोगों को काफी असुविधा हो रही है।


तीन माह में 33 हजार आवेदन, 41 फीसदी किये गए वापस
इस साल नए शिक्षा सत्र विलंब से प्रारंभ हुई। विद्यार्थियों के प्रवेश और छात्रवृत्ति की प्रक्रिया पूरी करने के लिए जाति, निवास, आय सहित अन्य दस्तावेज की आवश्यकता थी। तब लोगों ने लोक सेवा केंद्र के माध्यम से इन दस्तावेजों को तैयार करने के लिए आवेदन किया। सबसे अधिक आवेदन अक्टूबर से दिसंबर माह में 33 हजार 92 आवेदन आए हैं। इनमें से अधिकारियों ने दस्तावेजों की कमी बताकर 13 हजार 876 आवेदन को वापस कर दिया। इसके बाद विद्यार्थियों को स्कूल, कॉलेज से लेकर सीएससी सेंटरों तक चक्कर काटना पड़ा। इस कारण कई विद्यार्थी दस्तावेज स्कूल में जमा करने से वंचित रह गए, तो कई छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन आवेदन ही नहीं कर पाए।

लोक सेवा केंद्रों में सभी दस्तावेज के लिए अलग-अलग उचित शुल्क शासन ने निर्धारित कर दिया है। केंद्रों के कर्मचारी जल्द दस्तावेज बनाने के लिए अधिक रूपए वसूल रहे हैं। बताया जा रहा है कि निर्धारित शुल्क से दो से तीन गुना अधिक रूपए वसूल किए जा रहा है। लोगों को समय पर दस्तावेज बनाने के लिए अधिक रूपए देना पड़ रहा है। इसकी कई बार शिकायत भी सामने आ चुकी है। लेकिन विभागीय द्वारा अधिकारी कार्रवाई में खानापूर्ति कर दी जाती है।

इन कार्यालयों से वापस किए गए आवेदन
तहसील का नाम लौटाए आवेदन
कटघोरा 9819
पोंडी उपरोड़ा 8932
पाली 7924
कोरबा 5624
हरदीबाजार 4060
दीपका 3730
भैसमा 2281
करतला 1593
पसान 2113
बरपाली 1998
दर्री 696
कलेक्टोरेट 32

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE : गणतंत्र दिवस से पूर्व राजधानी छावनी में तब्दील, हॉटस्पॉट्स पर रहेगी खास नजरRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलमुजफ्फरनगर सदर सीट : मुस्लिम बहुल सीट पर एक भी दल ने नहीं उतारा अल्पसंख्यक प्रत्याशीUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सुभासपा अध्यक्ष कहां से लड़ेंगे चुनाव, ये अभी तक रहस्यWeather Update: राजस्थान में 26 व 27 जनवरी को अति शीतलहर का अलर्ट, 31 तक आसमान साफ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.