ड्राइवर और ठेका कर्मचारियों ने घेरा सब एरिया का दफ्तर, जम कर की नारेबाजी

Shiv Singh

Publish: Jul, 14 2018 11:10:22 AM (IST)

Korba, Chhattisgarh, India
ड्राइवर और ठेका कर्मचारियों ने घेरा सब एरिया का दफ्तर, जम कर की नारेबाजी

सब एरिया मैनेजर का घेराव किया

कोरबा. एसईसीएल के मानिकपुर खदान में ठेका कंपनियों ने ड्राइवर सहित अन्य स्टॉफ की ड्यूटी आठ घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे कर दिया है। इससे ठेका कर्मी नाराज हैं। कर्मचारियों ने शुक्रवार को मानिकपुर के सब एरिया मैनेजर का घेराव किया और आठ घंटे की शिफ्ट बहाल करने की मांग की।


एसईसीएल के मानिकपुर खदान में आधा दर्जन ठेका कंपनियां काम कर रही है। गुरुवार को ठेका कंपनियों ने आठ के बजाय 12 घंटे की शिफ्ट चालू करने का एक तरफा निर्णय लिया। इसे शुक्रवार से लागू कर दिया। इसकी सूचना मिलते ही ठेका कर्मचारी आक्रोशित हो गए। शुक्रवार को ठेकाकर्मी 12 घंटे की शिफ्ट का विरोध करने सब एरिया मैनेजर के दफ्तर पहुंचे।

नाराज कर्मचारियों ने सब एरिया मैनेजर के कार्यालय का घेराव कर दिया। प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की। ठेकेदार के साथ मिली भगत का आरोप लगाया। मांगों के समर्थन में एसईसीएल के अफसरों को ज्ञापन सौंपा। थोड़ी देर विरोध प्रदर्शन और हंगामा करने के बाद ठेका मजदूर लौट गए। शुक्रवार को सब एरिया का घेराव करने 50 से 60 मजदूर पहुंचे थे। ठेका कंपनियों में 300 से 400 ठेका मजदूर काम करते हैं।

Read more : B.com की 60 सीटों वाले बरपाली कॉलेज में चार सहायक प्राध्यापक, PG में 200 सीटें पर एक से ही चल रहा काम


स्टॉफ की कमी का बहाना
पिछले साल काफी विरोध और हंगामे के बाद ठेका कंपनियों ने मानिकपुर खदान में आठ घंटे की शिफ्ट चालू की थी। छह माह ही गुजरे हैं कि ठेका कंपनियां एक बार फिर एकजुट होकर विरोध में खड़ी हो गई है। कर्मचारियों ेसे 12 घंटे तक काम लेने पर आमादा है। हालांकि ठेका कंपनियों का कहना है कि उनके पास स्टॉफ की कमी है। इसलिए 12 घंटे की शिफ्ट की गई है।


प्रबंधन ने साधी चुप्पी
आठ के बजाए 12 घंटे की शिफ्ट श्रम कानून का उल्लंघन है। इसके बाद भी एसईसीएल के श्रम विभाग ने चुप्पी साध ली है। सब एरिया स्तर के अधिकारी भी खामोशी का चादर ओढ़ कर बैठे हुए हैं।

Ad Block is Banned