scriptDuring coal loading, the bunker collapsed and fell on the trailer | कोयला लोडिंग के दौरान बंकर टूटकर ट्रेलर पर गिरा, कोलकर्मी की मौत | Patrika News

कोयला लोडिंग के दौरान बंकर टूटकर ट्रेलर पर गिरा, कोलकर्मी की मौत

एसईसीएल की रजगामार खदान में कोयला लोडिंग के दौरान बड़ा हादसा हुआ। बंकर टूटकर जमीन पर गिर गया। इसकी चपेट में आकर एक कोलकर्मी की मौत हो गई। कोयला लेने के लिए बंकर के नीचे खड़ा ट्रेलर टूटकर चकनाचूर हो गया। प्रबंधन उच्चस्तरीय जांच कराने की बात कह रहा है।

कोरबा

Updated: July 06, 2022 02:13:06 pm


घटना मंगलवार दोपहर 12.10 बजे की बताई जा रही है। रजगामार खदान में बंकर से कोयला रोड सेल की गाडिय़ों में भरा जा रहा था। बंकर के नीचे खड़ी ट्रेलर पर कोयला भरा जा रहा था। इस बीच बंकर टूटकर ट्रेलर पर गिर गया। नीचे खड़ा कोलकर्मी बंकर से दब गया। घटना स्थल पर अफरा तफरी मच गई। लोडिंग प्वाइंट पर काम करने वाले कर्मचारी मौके पर पहुंचे।
,
बंकर टूटकर ट्रेलर पर गिरा,बंकर टूटकर गिरा
हादसे की सूचना रजगामार खदान के उप महाप्रबंधक को दी गई। अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। जानकारी मिलते ही आसपास के लोग भी बड़ी संख्या में घटनास्थल पर एकत्र हो गए। पुलिस को अवगत कराया गया। बंकर के नीचे कोलकर्मी को निकालने की कोशिश शुरू हुई। करीब तीन घंटे की कोशिश के बाद बंकर से कोलकर्मी को बाहर निकाला गया। उसकी पहचान राधेश्याम साहू उम्र 57 वर्ष से की गई है। वह एसईसीएल के अधीन पंप खलासी के पद पर कार्यरता था। रगामार ओमपुर कॉलोनी स्थित कंपनी के विभाग आवास में परिवार के साथ रहता था।
100 टन का बंकर
एसईसीएल की रजगामार अंउरग्राउंड खदान से कोयला सडक़ मार्ग के जरिए अलग अलग स्थानों तक पहुंचाया जाता है। गाडिय़ों में कोयला भरने के लिए खदान क्षेत्र में 100 टन का बंकर निर्माण किया गया है। खदान से कोयला बंकर में कन्वेयर बेल्ट के जरिए पहुंचता है। यहां से गाडिय़ों में लोड किया जाता है। लोडिंग के दौरान ही हादसा हुआ।

आठ साल पहले बनाया गया था बंकर
बताया जाता है कि वर्ष 2014-2015 में इस बंकर का निर्माण किया गया गया था। इसके लिए एसईसीएल ने एक निजी कंपनी को काम दिया था। इस बंकर को बनाने में पवन इंक्लाइन के स्ट्रैक्चर को काटकर लगाया गया था। पवन इंक्लाइन बंद हो जाने के बाद उसका बंकर खड़ा था। इसी बंकर को काटकर नए स्थान पर शिफ्ट किया गया था।
प्रबंधन की लापरवाही उजागर, सेफ्टी अफसर की भूमिका पर सवाल


क्या निर्माण के आठ बाद कोई बंकर गिर सकता है? इसकी जांच करने के लिए एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर से खान सुरक्षा महाप्रबंधक और उनकी टीम रजगामार पहुंच गई है। खान सुरक्षा निदेशालय क्षेत्रीय कार्यालय बिलासपुर की टीम भी जांच शुरू कर रही है। इसके अलावा अन्य स्तर पर भी जांच शुरू हो गई है। लेकिन इस घटना ने एसईसीएल में कराए जाने वाले कार्यों के गुणवत्ता की पोल खोलकर रख दी है। सवाल के घेरे में एसईसीएल रजगामार के खान सुरक्षा अधिकारी भी हैं। उनका काम खदान में सुरक्षा की नियमित जांच करना है। हादसे को लेकर कोलकर्मियों के बीच चर्चा है कि बंकर की वेल्डिंग कमजोर हो गई थी। इससे घटना हुई। अगर ऐसा हुआ तो यह खान सुरक्षा अधिकारी की गंभीर लापरवाही को उजागर करता है, जिन्होंने अपने दायित्वों को सही तरीके से नहीं निभाया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.