कोयला ट्रेन के इंजन में आई खराबी, 60 मजदूर लगे रहे, दिनभर चलता रहा काम

कोयला ट्रेन के इंजन में आई खराबी, 60 मजदूर लगे रहे, दिनभर चलता रहा काम

Vasudev Yadav | Publish: Mar, 17 2019 10:58:35 AM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

- खराब इंजन रेलवे स्टेशन में लगभग दो महीने से खड़ी थी

कोरबा. रेलवे स्टेशन में दो महीने से कोयला टे्रन के इंजन में आई खराबी को वन फॉर सी क्रेन के माध्यम से सुधार कार्य किया गया। इस कार्य में 60 मजदूरों को 12 घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि मजदूरों की भीड़ को देखकर लोगों को लग रहा था कि कोई पावर इंजन पटरी से उतर गया है। कोरबा रेलवे स्टेशन अंतर्गत गेवरारोड साईडिंग से कोयला परिवहन के दौरान दो पहिए की बीच की दूरी बढ़ गयी थी।

सुपरवाईजर की नजर पहिए पर पड़ी। इसकी सूचना रेलवे प्रबंधन को दी गयी। इसके उपरांत इंजन को रेलवे स्टेशन में खड़ी कर दी गयी थी। खराब इंजन रेलवे स्टेशन में लगभग दो महीने से खड़ी थी। इंजन में आई खराबी को सुधार कराने के लिए बिलासपुर से विशेष के्रन मंगाया गया। विशेष के्रन का नाम वन फॉर सी है। इसके अवाला 60 कर्मचारी व रेलवे के स्थानीय अधिकारियों की मदद से इंजन में आई गड़बड़ी को दूर किया गया। इसे लेकर सुबह से काम शाम तक चलता रहा।

Read More : ठेका कंपनी के इंजीनियर को अगवा कर मारपीट, दो लोगों को काम नहीं रखने से नाराज थे श्रमिक

करीब दो माह से इंजन एक ही स्थान में खड़ी थी। इससे एक लाइन से गाडिय़ों का परिचालन नहीं हो पा रहा था। रेल प्रशासन के स्थानीय अधिकारियों ने पूरे मामले से जोन कार्यालय को अवगत कराया था। उनसे आयी गड़बड़ी को सुधारने के लिए वन फॉर सी क्रेन की मांग की थी। दो माह बाद क्रेन कोरबा पहुंची। इसकी मदद से इंजन की गड़बड़ी को ठीक किया गया। सुपरवाईजर की सतर्कता से इंजन में आई खराबी की सूचना से बढ़ा हादसा टल गया था। सुधार के बाद इंजन को आगे के लिए रवाना किया गया। इसके बाद मजदूर कार्य से लौट गए। कोरबा-गेवरा रेलखंड पर मालगाड़ी के परिचालन का दबाव अधिक रहता है। कई बार गाडिय़ां डी रेल हो जाती है।

-लोको एक्सल के व्हील डिस्टेंट बड़ गयी थी, इसे उच्चाधिकारियों को सूचना दी गयी थी। इसके उपरांत इंजन के मरम्मतीकरण के लिए बिलासपुर से वन फॉर सी टे्रन और 60 कर्मचारियों ने 12 घंटे में काम पूरा किया। अरिजीत सिंह, क्षेत्रीय रेलवे प्रबंधक कोरबा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned