VIDEO- ग्राहकों को सामान दिखाने में लगे थे दुकानदार, कि अचानक ऊपरी तल्ले पर लगी आग, लाखों का नुकसान

- कई बार फोन करने के बाद विभाग ने एक घंटे बाद जाकर मेनलाइन को बंद किया

By: Shiv Singh

Updated: 13 Mar 2018, 11:22 AM IST

कोरबा . पावर हाउस रोड स्थित एसएस प्लाजा के सामने स्थित किरण फोम एंड फर्निशिंग दुकान में सोमवार की शाम अचानक भीषण आग लग गई। जिस समय दुकान में आग लगी। उस दौरान नीचे के तल में दुकानदार ग्राहकों को समान बेचने में लगे हुए थे। इसी बीच ऊपरी तल में रखे समान से आग की लपटे निकलने लगी।

सोमवार की रात शहर के सबसे भीड़भाड़ वाले इलाके पावर हाउस रोड में उस समय आपाधापी मच गई। जब अचानक किरण फोम एंड फर्निशिंग दुकान में आग लग गई। दुकान मालिक के अलावा ग्राहक दौड़कर सड़क पर आ गए। आसपास के दुकानदार जब तक आग को बुझाने का प्रयास करते आग पूरे ऊपर और नीचे तल में फैल चुकी थी। आनन-फानन में कंट्रोल रूम पुलिस और होमगार्ड के दमकल को सूचना दी गई।

होमगार्ड की दमकल मौके पर पहुंची और आग को बुझाने का प्रयास किया और नीचे रखे सामान पर आग पर काबू पा लिया गया। लेकिन ऊपरी तल में आग की लपटें और भी बढ़ गई। बेकाबू स्थिति से निपटने के लिए एडिशनल एसपी कीर्तन पटेल ने बालको, डीएसपीएम, सीआईएसएफ के भी दमकलों को तत्काल बुलाया। सभी दमकलों ने लगभग तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। लेकिन बीच-बीच में आग धधकती रही और दमकल कर्मी भी अंत तक डटे रहे और देर रात तक दमकल वाहनों का आना-जाना जारी रहा। बताया जा रहा है कि ऊपरी तल के फॉल्स सीलिंग में की गई वायरिंग में ही शॉट सर्किट हुई।

Read More : VIDEO- मां-बेटे ने ही 50 हजार की सुपारी देकर करवाई थी पति की हत्या, वजह जानकर उड़ जाएंगे आपके होश, पढि़ए खबर

दमकल विलंब से पहुंचती तो दूसरे दुकान भी आ सकते थे चपेट में
एक सुखद पहलू यह रहा कि दमकल ने समय रहते आग पर काबू पा लिया। दरअसल दुकान से सटे तीन से चार दुकान और मकान है। आग की लपटें इतनी अधिक थी कि आग वहां तक भी पहुंच सकता थी। डर की वजह से आसपास रहने वाले लोग सड़क पर आ गए थे।
ग्लास तोड़कर अंदर घुसे दमकल कर्मी

दुकान के ऊपरी तल में लगे आग पर काबू पाने के लिए वहां तक पहुंचने में दमकल कर्मियों को काफी मशक्कत उठानी पड़ी। दरअसल अंदर संकरे सीढ़ी पर आग की लपटें आ रही थी और कोई दूसरा रास्ता वहां तक पहुंचने के लिए नहीं था। लिहाजा दुकान के सामने की भारी भरकम ग्लास को दमकल कर्मियों को तोडऩा पड़ा। इसके बाद आग पर काबू पाया गया। इस बीच आग से बचे सामानों को बाहर निकाला गया।

बिजली विभाग ने एक घंटे बाद बंद की मेन लाइन
इस दौरान बिजली विभाग की एक बड़ी लापरवाही भी सामने आई। दरअसल किरण फोम एंड फर्निशिंग संस्थान से ही लगा हुआ बिजली का खंभा है। जहां अव्यवस्थित तरीके से तार फैले हुए थे। आग बुझाने के लिए जब दमकल कर्मी पानी मार रहे थे। उस वक्त पानी बिजली तारों पर भी पड़ रहा था। ऐसे में करंट की संभावना बनी हुई थी। कई बार फोन करने के बाद विभाग ने एक घंटे बाद जाकर मेनलाइन को बंद किया।

कैसे लगी आग समझ नहीं आया : संचालिका
किरण फोम एंड फर्निशिंग संस्थान का संचालन किरण अग्रवाल करतीं हैं। इनके पिता दीनदयाल अग्रवाल व भाई दीपक अग्रवाल की कुछ दुकान आगे ही उनका संस्थान है। जिस समय दुकान में आग लगी। उस वक्त किरण अग्रवाल कुछ कर्मचारियों के साथ दुकान में थी। किरण ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि दुकान में आग कैसे लगी कुछ समझ में नहीं आया। उस समय कुछ ग्राहक दुकान में थे। अचानक धुंए आना शुरू हो गया। आग से लाखों रूपए का नुकसान है और आकलन जारी है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned