25 सौ रूपए क्विंटल पर सरकार खरीदे धान, वरना जकांछ करेगी आंदोलन...

धर्मजीत सिंह ने कहा कि अब पार्टी पूरी तरह से निकाय चुनाव को लेकर तैयारी में जुट गई है। कार्यकर्ताओं को चार्ज करने वे कोरबा आए हुए थे।

कोरबा. केन्द्र सरकार 25 सौ रूपए क्विंटल में धान ले या नहीं छत्तीसगढ़ सरकार को अपना वादा पूरा करते हुए इस दर पर किसानों से धान खरीदना होगा। अगर सरकार वादाखिलाफी करती है तो जकांछ प्रदेश भर में आंदोलन करेगी। उक्त बातें जकांछ के कार्यकारी अध्यक्ष धर्मजीत सिंह ने कोरबा में पत्रकारवार्ता में कही।
धर्मजीत सिंह ने कहा कि सरकार अपने वादों को पूरा नहीं कर सकी है। प्रदेश में अराजकता का माहौल है। जो योजनाएं सरकार चला रही है कि उसका भी हाल बेहाल है। प्रदेश की सडक़ों का हाल बेहाल है। कब तक सडक़ें सुधरेगी। सरकार इसका जवाब नहीं दे रही है। ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में भी काम नहीं हो रहे हैं। सरकार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। सिंह ने प्रदेश के गृहमंत्री को मिले एक अवार्ड को लेकर कहा कि एक तरफ प्रदेश में क्राइम लगातार बढ़ रहा है। सडक़ों की हालत खराब है। ऐसे में मैं हैरान हूं कि आखिर यह अवार्ड गृहमंत्री को कैसे मिल गया। सिंह ने अवार्ड देने वाली कंपनी को प्रदेश में बुलाकर रायपुर से लेकर कोरबा तक का सफर कराने की बात कही। ताकि कंपनी को पता चल सके कि सडक़ों की हालत कितनी बद्तर है। सिंह ने निजी उद्योगों को भी लाभ पहुंचाने का आरोप सरकार पर लगाया है।

READ MORE : अजब गजब: पुलिस को अब करनी होगी उल्लुओं की रक्षा, मुख्यालय ने जारी किया निर्देश
निकाय चुनाव को लेकर तैयारी शुरु
धर्मजीत सिंह ने कहा कि अब पार्टी पूरी तरह से निकाय चुनाव को लेकर तैयारी में जुट गई है। कार्यकर्ताओं को चार्ज करने वे कोरबा आए हुए थे। महापौर व अध्यक्ष चुनाव के तरीके के बदलने पर कहा कि इससे खरीद-फरोख्त होने की संभावना अधिक रहेगी। मतपत्रों से चुनाव को लेकर सिंह ने कहा कि जिस ईवीएम से प्रदेश में कांग्रेस ने सरकार बनाई है। उसी पर संदेह किया जा रहा है।

Vasudev Yadav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned