अप्रैल के लिए नहीं आया चना और नमक, ढाई लाख परिवार इंतजार में, लोगों के बीच ये चर्चा...

बीपीएल कार्ड धारकों को एक रुपए प्रति किलो की दर से चांवल, 1 किलो शक्कर, 1 लीटर मिट्टी तेल, 5 रुपए प्रति पैकेट की दर से दो पैकेट चना और मुफ्त में दो पैकेट अमृत नमक अब तक प्रदाय होता रहा है।

By: Vasudev Yadav

Updated: 29 Mar 2019, 11:04 AM IST

कोरबा. सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत बीपीएल परिवारों को प्रत्येक माह मिलने वाला चना व नमक का आवंटन इस माह नहीं आया है। यहां तक कि आएगा या नहीं इसको लेकर कोई आधिकारिक सूचना भी नहीं मिल पा रही है। ऐसे में लोगों के बीच अब यह चर्चा जोरों पर है कि प्रदेश सरकार कहीं चने व नमक का आबंटन बंद न कर दे।

छत्तीसगढ़ खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2012 के तहत लाभान्वित हो रहे राज्य सहित कोरबा जिले के राशन कार्डधारियों को मुफ्त में मिलने वाले 2 पैकेट अमृत नमक और दो पैकेट चना से अब वंचित होना पड़ रहा है। अपै्रल माह का आबंटन इस बार जारी नहीं हुआ है। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने छत्तीसगढ़ खाद्य सुरक्षा एवं पोषण अधिनियम 2012 पारित किया।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिये प्रदेश के गरीब और जरूरतमंदों नागरिकों को इसके तहत खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित की थी। बीपीएल कार्ड धारकों को एक रुपए प्रति किलो की दर से चांवल, 1 किलो शक्कर, 1 लीटर मिट्टी तेल, 5 रुपए प्रति पैकेट की दर से दो पैकेट चना और मुफ्त में दो पैकेट अमृत नमक अब तक प्रदाय होता रहा है। हालांकि पूर्व की सरकार ने व्यवस्था में बदलाव कर कार्ड के प्रति सदस्य को 7 किलो के मान से चावल वितरण शुरू कराया जिसे वर्तमान सरकार ने फिर से प्रति कार्ड 35 किलो चावल देना सुनिश्चित किया है।

Read More : Video :- कांग्रेसी बोले न्याय योजना मास्टर स्ट्रोक, विपक्षी कर रहे दुष्प्रचार

इतने राशन कार्ड धारी जिले में
कोरबा जिले में राशन कार्डों के आंकड़े पर गौर करें तो यहां अंत्योदय गुलाबी 55819, अंत्योदय एकल 3008, स्पेशल गुलाबी 264, नीला 189653 व नि:शक्तजन राशन कार्ड की संख्या 102 कुल 2 लाख 48 हजार 846 राशन कार्डधरी जिले में हैं। इनमें गुलाबी, नीला व नि:शक्तजन वाला राशन कार्ड धारकों जिनकी संख्या 2 लाख 45 हजार 574 है, जिनके लिए 450 टन चना व इतना ही नमक हर माह जारी होता है। अब इन्हें मुफ्त में नमक और चना अपै्रल माह से नहीं मिल पायेगा।

आबंटन और भण्डारण अब तक नहीं
खाद्य विभाग अफसरों की मानों तो रायपुर से ही इस बार चना व अमृत नमक का आवंटन जारी नहीं किया गया है। आगे क्या होगा इसकी कोई अधिकारिक सूचना नहीं है। इसलिए आबंटन बंद कर दिया जाएगा ऐसा कहना भी सही नहीं है।

-चांवल और शक्कर भंडारण गोदाम में किया जा रहा है। अपै्रल माह के लिए चना और अमृत नमक का एलॉटमेंट अब तक नहीं आया। अमूमन हर माह की 10 तारीख तक सामाग्रियों का एलॉटमेंट आ जाया करता है। जिले के लिए 450 टन चना और इतना ही नमक आवंटित होता रहा है। जब चना और नमक का एलॉटमेंट आयेगा तब भंडारण कर दुकानों तक पहुंचायेंगे- एके पाण्डेय, जिला प्रबंधक, नान

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned