हाईटेक होते ठग लगातार दे रहे बैंक प्रणाली को चुनौती, सुरक्षा का सिस्टम फेल

हाईटेक होते ठग लगातार दे रहे बैंक प्रणाली को चुनौती, सुरक्षा का सिस्टम फेल
हाईटेक होते ठग लगातार दे रहे बैंक प्रणाली को चुनौती, सुरक्षा का सिस्टम फेल

Vasudev Yadav | Updated: 23 Sep 2019, 08:01:03 PM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

ATM Card Cloning : एटीएम कार्ड क्लोनिंग जैसी वारदात घट चुकी है शहर में

कोरबा. ऑनलाइन ठगी का करोबार तेजी से फल-फूल रहा है। जिले में अब एटीएम क्लोनिंग जैसी वारदातें अंजाम दी जाने लगीं हैं। दूसरी तरफ सिस्टम आम लोगों को सुरक्षा देने में पूरी तरह से फेल साबित हुआ है। ठग दिन ब दिन हाईटेक होते जा रहे हैं। जबकि बैंक प्रबंधन एटीएम को पुख्ता सुरक्षा तक मुहैया नहीं करा पा रहे हैं।
सूचना तकनीक के युग में ठगी के तरीके बदले हैं। एटीएम इस्तेमाल करने वाले बुजुर्ग, महिलाएं व तकनीक के इस्तेमाल में कमजोर लोग ठगों के लिए सॉफ्ट टार्गेट बन रहे हैं। बैंक प्रबंधन आम लोगों की दी जाने वाली सुविधाओं को तकनीकी से तो जोड़ रहे हैं। लेकिन इस तकनीक के दुष्प्रभाव को रोकने और ठगों से आम लोगों को बचाने के लिए कोई ठोस इंतजाम नहीं किए जो रहे हैं। एटीएम से सुरक्षा गार्ड भी हटा लिए गए हैं। ऐसे में किसी अनहोने घटना घटती है तो जवाबदेह कौन होगा यह एक बड़ा सवाल है?

READ MORE : बीएमएस की हड़ताल का मिला जुला असर, काम पर नहीं पहुंचे 25 फीसदी मजदूर

एटीएम ट्रांजेक्शन के दौरान हाल फिलहाल में घटी कुछ घटनाएं
केस - 1
ढोढीपारा निवासी वंदना सिंह चौहान ने १० अगस्त को पावर हाउस रोड कोरबा स्थित एसएस प्लाजा के एटीएम से दोपहर 1 से 2 बजे के मध्य पैसे निकाले। एटीएम कार्ड स्वाइप करने पर कोई विकल्प नही आया। इसके बाद महिला ने साथ मौजूद पति से पैसे निकालने को कहा। दिक्कत होने पर पीछे खड़ा एक अज्ञात व्यक्ति मदद करने के बहाने अंदर दाखिल हुआ और एटीएम लेकर मशीन मे स्वाइप किया। उसके बाद महिला के पति ने पिन एंटर किया। 20000 रूपये आहरण भी किया। आहरण के बाद एटीएम से अपने खाता मे 10000 रुपए का एक ट्रांसफर भी किया गया। १६ अगस्त को महिला के पति विकास चौहान बीएड में एडमिशन के लिए फीस जमा करने के लिये एटीएम लेकर गये। तब चला कि बैंक खाते में बैलेंस ही नहीं है। महिला के खाते से साढ़े ३७ हजार रूपए निकाल लिए गए। महिला ने कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है। पता चला कि अज्ञात व्यक्ति ने कार्ड करते समय इसकी क्लोनिंग कर ली थी।

केस - 2
19 अगस्त को कटघोरा के एक एटीएम में रुपए निकालने पहुंची शिक्षिका से बदमाशों ने कार्ड लूट लिया। बदमाश कार में बैठकर फरार हो गए। शिक्षिका लूट की सूचना देने थाना पहुंची। इस बीच बदमाशों ने पोड़ी उपरोड़ा स्थित एक एटीएम से दो किस्तों में शिक्षिका के एटीएम कार्ड से 40 हजार रुपए निकाल लिये। सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई।

केस - 3
पिछले साल 16 अक्टूबर को गिरजा तिवारी को ठगी का शिकार बनाया था। गिरजा कोरबा के एसएस प्लाजा स्थित एटीएम से पैसे निकालने पहुंची थी। वहां गिरोह के सदस्य पहले से मौजूद थे। एटीएम बूथ से ठगों की तस्वीर निकालकर सोशल मीडिया में शेयर किया। मैग्नेटिक कार्ड रीडर के डेटा को गिरोह डेटा केबल के जरिए लैपटॉप से जोड़ता था। रीडर से डेटा लेकर प्लास्टिक कार्ड पर एटीएम के डेटा को क्लोन करता था। पिन कोर्ड की मदद से एटीएम से रुपया दूसरे खाते में ट्रांसफर कर देते था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned