मुस्तैदी के साथ फिल्ड में नहीं दिख रहा निगम अमला, इधर इसके डंक से घबरा रहे लोग

मुस्तैदी के साथ फिल्ड में नहीं दिख रहा निगम अमला, इधर इसके डंक से घबरा रहे लोग

Vasudev Yadav | Updated: 10 Jul 2019, 08:00:00 AM (IST) Korba, Korba, Chhattisgarh, India

मच्छरों (Mosquitoes) का प्रकोप बढऩे लगा है, लेकिन फागिंग मशीनों (Fagging machine) का पता नहीं है। स्टोर में मशीनें खड़ी हुई हैं। इसका उपयोग नहीं किया जा रहा है। रिहायशी इलाकों के साथ-साथ बस्तियों में भी मच्छरों (Mosquitoes) का आतंक बढ़ते जा रहा है। सीजन को देखते हुए निगम अमला भी मुस्तैदी के साथ फिल्ड में नहीं दिख रहा है।

कोरबा. बारिश सीजन शुरू होते ही मच्छरों (Mosquito) का प्रकोप बढऩे लगा है। एक तरफ जहां सफाई व्यवस्था ढर्रे पर चल रही है तो वहीं बजबजाती नालियों की वजह से बदबू और अब मच्छरों से लोग हलाकान होने लगे हैं। खासकर ऐसे इलाके जिसके आसपास खाली प्लॉट है और वहां पर पानी जमा होता है उसी जगह लोग कचरा फेंकते हैं। ऐसे इलाके सबसे अधिक मच्छरों से बेहाल है। इसी जगह पर मच्छर (Mosquito) अधिक संख्या में पनपते हैं। फिर शाम होते ही घरों में घुस जाते हैं।

इस सीजन में मच्छरों (Mosquitoes) के प्रकोप को कम करने के लिए कोई खास पहल अब तक नहीं दिख रही है। पिछले दो साल में निगम द्वारा फागिंग मशीन (Fagging machine) के बजाए मैलाथ्यान स्प्रे के माध्यम से मच्छरों (Mosquito) के प्रकोप को कम करने पर काम किया गया। इसके बाद फिर से इस स्प्रे को बंद कर फागिंग मशीन (Fagging machine) से छिड़काव के लिए येाजना बनाई गई। दो साल पहले निगम ने तीन नई फागिंग मशीनें खरीदी गई थी। इसके कुछ दिन बाद इससे छिड़काव भी शुरू किया गया। लेकिन बाद में छिड़काव के लिए आवश्यक कीटनाशक की खरीदी पर कुछ अड़चनों की वजह से देरी हो गई। वर्तमान में भी मशीनें निगम के स्टोर में खड़ी है।

Read More : खुद पर नहीं था भरोसा, इसलिए पूरक परीक्षा में बैठा दिया दोस्त को, फिर ये हुआ...

औद्योगिक उपक्रम भी लापरवाह,सफाई ना छिड़काव
निगम क्षेत्र की कॉलोनियों के आलावा औद्योगिक उपक्रम वाले कॉलोनियों में भी मच्छरों का प्रकोप बढ़ा है। उपक्रम के अफसर भी सफाई व कीटनाशक छिड़काव को लेकर लापरवाही कर रहे हैं। विद्युत कंपनी के पूर्व व पश्विम कॉलोनी, एसईसीएल के पंपहाउस, मानिकपुर, दीपका, कुसमुंडा व बलगी में काफी ज्यादा परेशानी बढ़ी है। उपक्रम द्वारा भी सफाई सहित अन्य व्यवस्था निगम के भरोसे छोड़ दिया जाता है।

मेडिकेटेड मच्छरदानी सभी तक नहीं पहुंची
पिछले साल स्वास्थ्य विभाग (Health Department) द्वारा नगर निगम के माध्यम से मेडिकेटेड मच्छरदानी बंटवाया गया था। लेकिन अब इस बार मच्छरदानी का वितरण नहीं कराया जा रहा है। शहर के कई वार्ड में लोग मच्छरों के डंक से परेशान है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned