Chhattisgarh Budget 2018: भारतीय मजदूर संघ बजट से नाखुश इस तरह करेंगे विरोध

केन्द्र सरकार के आम बजट पर भारतीय मजदूर संघ का विरोध जारी है।

By: Rajkumar Shah

Updated: 10 Feb 2018, 01:38 PM IST

कोरबा . केन्द्र सरकार के आम बजट पर भारतीय मजदूर संघ का विरोध जारी है। संघ ने 20 फरवरी को काला दिवस मनाने का निर्णय लिया है।

इस दिन बीएमएस समर्थित कर्मचारी काला फीता लगाकर काम करेंगे। बजट के खिलाफ 26 फरवरी को जिला मुख्यालय में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है।


छह से आठ फरवरी तक भारतीय मजदूर संघ की केन्द्रीय कार्यसमिति की बैठक गुजरात के अंबागढ़ में हुई। इसमें अनेक बिन्दुओं पर प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक में केन्द्र सरकार द्वारा सदन में प्ररस्तुत किए गए आम बजट पर चर्चा की गई। इसे मजदूर विरोधी बताया गया।

बजट में श्रमिकोंं की घोर उपेक्षा का आरोप लगाया गया। कहा कि बजट में असंगठित क्षेत्र की उपेक्षा की गई है। इसके विरोध में 20 फरवरी को बीएमएस से जुड़े सभी श्रमिक संगठन के सदस्य काला फीता लगाकर काम करेंगे।

26 या 27 फरवरी को अपनी सुविधा अनुसार जिला मुख्यालय में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करेंगे। कलेक्टर के जरिए मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपेंगे। संघ की ओर से बताया गया है कि 25 फरवरी तक सरकार की ओर से सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया तो संघ दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित होने वाले भारतीय श्रम सम्मेलन का विरोध करेगा।

इसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संबोधित करने वाले हैं। अंबागढ़ में आयोजित केन्द्रीय कार्यसमिति की बैठक में भारतीय मजदूर संघ के देश भर के श्रमिक नेता शामिल हुए थे। बैठक में कोरबा से सतेन्द्र दुबे, लक्ष्मण चन्द्रा और आर मिश्रा शामिल हुए।


बिजली और कोयला में भी होगा प्रदर्शन- आयोजित होने वाले प्रदर्शन की तैयारी स्थानीय स्तर पर चालू की गई है। ऊर्जानगरी में सबसे मजबूत प्रदर्शन बिजली और कोयला कंपनियों में होने की संभावना है। इस प्रदर्शन में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को भी शामिल किया जाएगा।

भारतीय मजदूर संघ ने मुखर होकर बजट का विरोध किया है। बजट प्रस्तुत होने के अगले दिन भारतीय मजदूर संघ से संबद्ध सभी श्रमिक संगठनों ने कोरबा के घंटाघर चौक पर धरना प्रदर्शन किया था।

Rajkumar Shah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned