कोरबा जिला एक बार फिर रेड जोन में शामिल, कुदुरमाल क्वारेंटाइन सेंटर को चारों तरफ से बेरिकेटिंग कर किया गया सील

Coronavirus: प्रवासी मजदूरों में 12 लोगों के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद कलेक्टर किरण कौशल, एसपी अभिषेक मीणा और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुदुरमाल के क्वारंटाइन सेंटर पहुंचे। मजदूरों की ट्रेवल हिस्ट्री और संपर्क में आए लोगों की जानकारी ली।

By: Vasudev Yadav

Updated: 23 May 2020, 01:28 PM IST

कोरबा. अलग-अलग राज्यों से लौटने वाले प्रवासी मजदूरों के कारण कोरबा में कोरोना का संक्रमण फिर फैलने लगा है। कुदुरमाल के क्वारंटाइन सेंटर (Kudurmal Quarantine Center) में 12 प्रवासी मजदूर कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाए गए हैं। पीडि़त मजदूरों को बिलासपुर और रायपुर के कोविड-19 हॉस्पिटल मेंं भर्ती किया गया है। इसके साथ ही कोरबा जिला एक बार फिर रेड जोन में शामिल हो गया है।

कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) सभी प्रवासी मजदूर महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश से गृह जिला कोरबा लौटे थे। यहां पहुंचने पर प्रशासन की ओर से सभी को क्वारंटाइन किया गया है। प्रवासी मजदूरों में 12 लोगों के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि होने के बाद कलेक्टर किरण कौशल एसपी अभिषेक मीणा और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुदुरमाल के क्वारंटाइन सेंटर पहुंचे। उन्होंने सेंटर को चारों तरफ से सील कर सेनेटाइजेशन करने के लिए कहा।

मजदूरों की ट्रेवल हिस्ट्री और संपर्क में आए लोगों की जानकारी ली। पता चला है कि सभी मजदूर लॉकडाउन में फंसे थे। गृह जिला पहुंचने के साधन नहीं थे। तब उन्होंने ट्रक और ट्रेलर का सहारा लिया था। मालवाहक गाडिय़ों में बैठकर कोरबा जिले में प्रवेश किया था। यहां से बेरियर पर रोककर पूछताछ की गई थी। इसके बाद उरगा के क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया था। कोरोना पॉजिटिव 12 श्रमिक उरगा थाना क्षेत्र के निवासी हैं।

यहां से लौटे थे श्रमिक
कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) 12 मरीजों की ट्रेवल हिस्ट्री की जांच प्रशासन ने की है। इसमें पता चला है कि पॉजिटिव मजदूरों में नासिक से चार, नागपुर से दो, चंदरपुर से एक, भंडारा से एक, अलीगढ़ से एक मध्यप्रदेश के दमोह से एक और उत्तर प्रदेश के कानपुर से दो और अलीगढ़े से एक मजदूर लौटा था। उन्हें कुदुरमाल के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में क्वारंटाइन किया गया था। सभी मजदूरों की स्वास्थ्य जांच की गई थी और उनमें कोरोना वायरस के कोई प्रारंभिक लक्षण नहीं आए थे। क्वारंटाइन में ठहराने के बाद एहतिहातन सभी लोगों का कोरोना टेस्ट के लिए नाक एवं गले का स्वाब सेम्पल लिया गया था। शुक्रवार को आई टेस्ट रिपोर्ट में 12 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए।

इन गांवों के निवासी हैं मजदूर
कोरोना पाजिटिव 12 प्रवासी श्रमिक कोरबा जिले के कटबितला, तुमान, गाड़ापाली, पहंदा, रीवांपार, बरीडीह गांवों के साथ-साथ बेलगरी बस्ती बालको एवं दर्री क्षेत्र के मूल निवासी हैं।

61 प्रवासी श्रमिकों को रखा गया है कुदुरमाल में
कुदुरमाल के क्वारंटाइन (Kudurmal Quarantine Center) सेंटर में कुल 61 प्रवासी श्रमिकों को क्वारंटाइन किया गया है। इन सभी की नियमित स्वास्थ्य जांच के साथ-साथ अन्य लोगों से उनके संपर्क नहीं होने के भी पर्याप्त उपाय किये गये हैं। पूरे क्वारंंटाइन सेंटर को चारों तरफ से बेरिकेटिंग कर पहुंच मार्गों को सील कर दिया गया है। प्रवासी श्रमिकों को भोजन देने की भी ऐसी व्यवस्था की गई है कि वालिंटियरों का उनसे कोई संपर्क नहीं है। पानी के लिए नलकूप भी परिसर में ही है और उसे चालू या बंद करने के लिए इलेक्ट्रिक स्वीच भी परिसर में ही स्थापित है। स्वीच को बंद एवं चालू करने की जिम्मेदारी इन प्रवासी श्रमिकों को ही दी गई है।

परिसर से लगे पृथक भवन में इन सभी श्रमिकों के लिए भोजन बनाने की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा के लिए भी पुलिस कर्मियों का पहरा परिसर में लगाया गया है। भोजन, साफ-सफाई, सुरक्षा आदि व्यवस्थाओं में लगे सभी लोगों की स्वास्थ्य जांच और रेपीड टेस्टिंग कीट से संक्रमण की जांच के निर्देश कलेक्टर ने मौके पर दिए हैं।

अभी तक जिले में 42 कोरोना पॉजिटिव
इसके पूर्व दिल्ली से लौटे 25 वर्षीय युवक की टेस्ट रिपोर्ट भी 19 मई को पॉजिटिव आई थी। युवक का ईलाज वर्तमान में बिलासपुर कोविड अस्पताल में जारी है। कोरबा जिले में अब सक्रिय मरीजों की संख्या 13 हो गई है। इसके पूर्व कोरबा के रामसागरपारा के एक युवक तथा कटघोरा के 28 व्यक्ति कोरोना से संक्रमित पाए गए थे जो अब पूरी तरह ठीक होकर अपने-अपने घर लौट चुके हैं। इस प्रकार कोरबा जिले से कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 42 हो गई है इसमें से 29 मरीज पूरी तरह ठीक होकर वापस लौट चुके हैं और 13 मरीजों का इलाज जारी है।

दो मरीजों में मिले कोरोना के लक्षण
कुदुरमाल के क्वारंटाइन सेंटर में 12 प्रवासी मजदूर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। गुरुवार को दो मजदूरों में कोरोना के लक्ष्ण पाए गए थे। बुखार लगने पर जिला अस्पताल के आइसोलेशन रूम में रखा गया था। जबकि 10 मजदूरों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले थे। जिला अस्पताल से दो मरीजों को कोविड हॉस्पिटल रायपुर भेजा गया है।

coronavirus COVID-19 virus
Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned