शिक्षाकर्मियों को बड़ी राहत, हड़ताल अवधि का मिलेगा वेतन

शिक्षाकर्मियों के खिलाफ की गयी अनुशासनात्मक कार्रवाई को भी निरस्त कर दिया गया है।

By: Vasudev Yadav

Published: 11 Dec 2017, 08:44 PM IST

कोरबा . सरकार ने हड़ताली शिक्षाकर्मियों पर अंतत: नरमी बरतते हुए हड़ताल की अवधि को देय अवकाश मानते हुए वेतन प्रदान करने का आदेश जारी कर दिया है। इतना ही हड़ताल करने के लिए शिक्षाकर्मियों के खिलाफ की गयी अनुशासनात्मक कार्रवाई को भी निरस्त कर दिया गया है। शासन से आदेश जारी होते हुए शिक्षाकर्मियों ने इसे अपनी जीत बताया है।

संविलियन सहित कई मांगों को लेकर प्रदेश भर के शिक्षाकर्मियों ने आंदोलित थी लेकिन सरकार संविलियन के खिलाफ थी। सरकार और शिक्षाकर्मियों के अपने-अपने रुख पर अड़े रहने के कारण न हड़ताल खत्म हो रही थी और न ही शासन अपने मकसद में कामयाब हो रहा था। जिले में हड़ताल के अंतिम दिन चार हजार के करीब शिक्षक हड़ताल पर थे।

सरकार ने बर्खास्तगी की कार्रवाई शुरू कर दी और जिले में पदस्थ शिक्षक संघ के कार्यकारी प्रांताध्यक्ष ओपी बघेल बर्खास्तगी कर दी गयी। अन्य जिलों में भी गिरफ्तारी व बर्खास्तगी हुई। इसी बीच शिक्षाकर्मियों के रायपुर में प्रदर्शन के दौरान लाठी चार्ज और गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस ने पांच दिसंबर को छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान कर दिया। बंद के एक दिन पहले चार दिसंबर की रात शिक्षाकर्मियों ने शासन से वार्ता कर हड़ताल खत्म कर दी। इसके बाद से शिक्षाकर्मियों को शासन के रुख का इंतजार था और 11 दिसंबर को सरकार की ओर से दो-दो अलग आदेश जारी कर दिए। इनमें एक आदेश में कहा गया है कि शिक्षाकर्मियों को हड़ताल अवधि का वेतन मिलेगा जबकि दूसरे आदेश में हड़ताल अवधि में शिक्षाकर्मियों के खिलाफ की गयी अनुशासनात्मक कार्रवाई को शून्य करार दिया गया।

हालांकि जिले में शिक्षक संघ के कार्यकारी प्रांताध्यक्ष ओपी बघेल कि खिलाफ ही केवल एक ही बर्खास्तगी की कार्रवाई हुई थी। अब इसे भी जल्द ही निरस्त किया जा सकेगा। जिले में हड़ताल के अंतिम दिन चार हजार के करीब शिक्षक हड़ताल पर थे।
अब बनेगा वेतन
हर माह की 10 तारीख के आस पास शिक्षाकर्मियों को वेतन जारी किया जाता है, लेकिन इस बार हड़ताल के कारण इस अवधि का वेतन देने व न देने को लेकर सरकारी आदेश का इंतजार हो रहा था। इस कारण किसी भी विकासखण्ड में शिक्षाकर्मियों के वेतन बनाने की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है।अब सोमवार को राज्य शासन ने हड़ताल अवधि का वेतन देने की घोषण कर दी है। इसके बाद अब ब्लॉक मुख्यालयों में वेतन बनाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।
25 से पहले वेतन मिलना मुश्किल
आदेश जारी होने के बाद हड़ताल अवधि का वेतन मिलेगा यह तो तय हो चुका है। ११ दिसंबर के बाद ही अब वेतन बनाने के प्रक्रिया शुरू होगी। इसलिए सारी प्रक्रियाएं पूरी करने में तकरीबन दो हफ्तों का समय लग सकता है। शिक्षाकर्मियों का नवंबर माह का वेतन २५ दिसंबर से पहले मिलना मुश्किल है।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned