युवक ने महिला पर किया था हंसिया से ताबड़तोड़ वार, सिम्स में इलाज के दौरान महिला ने तोड़ा दम

Murder Case: जेल से छूटने के बाद युवक लगातार महिला को जान से मारने की दे रहा था धमकी, डॉक्टरों के मुताबिक महिला को लगे थे दो सौ टांके

By: Vasudev Yadav

Updated: 08 Dec 2019, 05:57 PM IST

कोरबा. युवक द्वारा महिला पर जानलेवा हमले के तीन दिन बाद इलाज के दौरान रविवार को सिम्स अस्पताल बिलासपुर में महिला ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मामले में आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

दो माह पहले नहाती हुई महिला का अश्लील वीडियो बनाने के मामले में जेल गए आरोपी ने जमानत पर बाहर आते ही पीडि़त महिला पर प्राणघातक हमला कर दिया था। आरोपी ने महिला पर हंसिए से ताबड़तोड़ वार किए। थे। गंभीर रूप से घायल महिला अपने प्राणों की भीख मांगती रही, लोगों से बचाने की गुहार लगाती रही, लेकिन भीड़ बचाने की बजाए उसका वीडियो बनाती रही।

पुलिस ने घटना के 30 घंटे बाद आरोपी को गिरफ्तार किया। कोरबा पुलिस के मुताबिक दो माह पहले आरोपी इंद्रपाल टोंडे ने महिला के घर से घुसकर उसका नहाते हुए वीडियो बना लिया था और उसे सोशल साइट्स पर वायरल कर दिया था। पीडि़त महिला ने इस पर मामला दर्ज कराया था।

पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया था, लेकिन पुलिस आरोप-पत्र में ढील बरतती रही। इसका फायदा उठाकर आरोपी जमानत पर बाहर आ गया। जेल से छूटने के बाद वह लगातार महिला को जान से मारने की धमकी दे रहा था। इसकी शिकायत भी महिला ने पुलिस से की, लेकिन पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया। रविवार को बिलासपुर के सिम्स हॉस्पिटल में इलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया।
Read More: जेल से छूटने के बाद युवक ने महिला पर किया हंसिया से हमला, खून से लथपथ महिला अस्पताल दाखिल

युवक ने महिला पर किया था हंसिया से ताबड़तोड़ वार, सिम्स में इलाज के दौरान महिला ने तोड़ा दम

पीडि़त महिला के घर के आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि आरोपी आए दिन पीडि़ता के घर के सामने तमाशा करता था। महिला भी पुलिस को फोन लगाती थी, मगर पुलिस आती नहीं थी। शुक्रवार को जब आरोपी ने पीडि़ता पर हंसिये से हमला किया तो पड़ोसियों ने डॉयल-112 पर कॉल कर बुलाया, लेकिन वह नहीं पहुंची। इसके बाद पड़ोसी दौड़कर सीएसईबी चौक से पुलिस को बुलाकर लाए। तब तक आरोपी फरार हो चुका था।

दो अक्टूबर को गिरफ्तार, लेकिन चार्जशीट अब तक नहीं
आरोपी इंद्रपाल टोंडे को इसी साल दो अक्टूबर को सीएसईबी चौकी में 506, 509 (ख) आईपीसी 66-ई (आईटी एक्ट) के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। पुलिस की जांच की रफ्तार ऐसी रही कि आरोपी को जमानत मिल गई।

महिला के चेहरे और गले में पहुंची थी गंभीर चोटें
महिला के चेहरे और गले में गंभीर चोटें लगी थी। करीब 20-21 बार हंसिया से हमले से आंख के ऊपर, नाक, गाल, गले के साथ-साथ बीच-बचाव करने की वजह से हाथों पर गहरे जख्म हो गए थे। डॉक्टरों के मुताबिक महिला को दो सौ टांके लगे थे। ब्लड काफी बह चुका था। शनिवार देर शाम घायल महिला को सिम्स रेफर बिलासपुर किया गया था, जहां इलाज के दौरान रविवार को मौत हो गई।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned