अदिवासी सेवा सहकारी समिति सोहागपुर में खाद संकट, किसान परेशान और बिचौलिए मालामाल

खाद की आपूर्ति नहीं हो पा रही

By: Shiv Singh

Published: 20 Jul 2018, 10:52 AM IST

कोथारी. आदिवासी सेवा सहकारी समिति सोहागपुर में किसान यूरिया और डीएपी खाद लेने के लिए चक्कर लगाते थक जा रहे हैं लेकिन न तो नम्बर आ रहा है और आ भी रहा है तो खाद की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। किसानों का कहना है कि पर्ची कटाये एक माह बीस दिन से अधिक हो गए हैं

चक्कर काट रहे हैं लेकिन सब काम छोड़ कर सोसाइटी में बैठे रहते हैं लेकिन नम्बर नही आता है। किसानों ने कर्मचारियों के ऊपर यह भी आरोप लगाया कि जो बाद में पर्ची कटाता है, उसका नंबर जल्दी लगा देते है। अभी सोसाइटी में किसानों की उंगली पंचिंग के आधार एंट्री के कारण खाद वितरण में देरी हो रही है ऊपर से यूरिया खाद की कम आवक कम स्टाक के वजह से किसानों को पूर्ति नही हो पा रही है


सोहागपुर सोसाइटी के अंतर्गत कुल 13 पंचायत हैं। इन सभी पंचायतों में इसी सोसाइटी से खाद-बीज का वितरण होता है। सोसाइटी के कर्मचारी गंगा ने बताया कि आज 100 कट्टी यूरिया है और एक हजार कट्टी की डीडी कट चुका है। लेकिन किसानों की भीड़ को देखते हुए एक दिन में सौ कट्टी यूरिया ऊंट के मुंह में जीरा के समान है।

Read more : जहरीले पुटू का सितम- पहले पूरे परिवार ने साथ बैठकर मजे से खाया फिर ६ सदस्यों की बिगड़ी तबियत

इस वजह से खेती किसानी पिछड़ रही है। खेत में खाद डालने का समय निकलता जा रहा है। इसकी वजह से कई किसान बिचौलियों के पास मजबूरी में आने पौने दाम पर खाद खरीदने के लिए मजबूर हो रहे हैं। कई किसान खेती के वास्ते नगदी लेने के लिएबैरंग लौट गए लेकिन सबसे गंभीर बात यह है कि इन किसानों का दुख दर्द सुनने वाला कोई नहीं।

इनकी समस्या सुनने के लिए न तो कृषि विभाग के अधिकारियों के पास फुर्सत है और नही सहायक पंजीयन अधिकारी के पास। जिला सहकारी बैंक के अधिकारी भी इस समस्या का समाधान नहीं निकाल पा रहे हैं।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned