Video Gallery : आक्रोशित ग्रामीणों ने बांगों थाने का घेराव कर दो घंटे तक किया हंगामा, जानें क्या थी वजह

Shiv Singh

Publish: Sep, 06 2018 08:59:24 PM (IST)

Korba, Chhattisgarh, India

कोरबा. थानेदार पर झूठी कार्रवाई और अभद्र व्यवहार का आरोप लगाकर ग्रामीणों ने बांगो थाने का घेराव कर दिया। थानेदार केएन तिवारी को बांगो से हटाकर लाइन अटैच करने की मांग की है। दो घंटे तक थाने के बाहर हंगामा व धरना प्रदर्शन किया है। थाने में हंगामा बढ़ता देख पुलिस के वरिष्ठ अफसर और पोड़ी उपरोड़ा के तहसीलदार पहुंचे। जांचकर कार्रवाई का अश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीण शांत हुए।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि घर के बाहर से राड चोरी के संदेह पर पुलिस ग्राम कोनकोना के चार युवक को उठाकर बांगो थाना ले आई थी। युवकों से थाना में पूछताछ की गई। उनके चोरी में शामिल होने का प्रमाण नहीं मिला। पुलिस का संदेह झूठा साबित हुए। इसके बाद भी बांगो पुलिस नहीं मानी। युवकों का बयान दर्ज किया। चारोंं युवकों के खिलाफ सीआरपीसी की धारा १०७/१६ के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई कर दिया। उनके खिलाफ कार्यपालिक दंडाधिकारी की कोर्ट में इश्तगाशा पेश करने की बात कही।

युवकों के परिवार का आरोप है कि थाने से छोडऩे के बदले उनसे बांगो पुलिस ने कटघोरा स्थित लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस में परिवार से १० हजार रुपए लिये। पैसे लेने के बाद भी पुलिस ने युवकों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई कर दी। इससे परिवार के लोग नाराज हो गए। परिवार के लोग कोनकोना के अन्य ग्रामीणों को लेकर गुरुवार दोपहर करीब १२ बजे बांगो थाना पहुंचे। उन्होंने युवकों के खिलाफ कार्रवाई किस सबूत के आधार पर की गई है, इसका जवाब थानेदार केएन तिवारी से मांगा।

थानेदार जवाब नहीं दे सके। ग्रामीणों ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया। ग्रामीणों का आरोप है कि भीड़ को देखकर थानेदार आक्रोशित हो गए। थाने से अभद्रता पूर्वक बाहर निकाल दिया। इससे ग्रामीण नाराज हो गए। थाने के बाहर हंगामा करने लगे। थानेदार केएन तिवारी को बांगो से हटाने की मांग करने लगे। थाने में भीड़ बढऩे लगी। सूचना पर कटघोरा एसडीओपी संदीप मित्तल और पोड़ी उपरोड़ा के तहसीलदार सिदार थाना पहुंंचे। ग्रामीणों से बातचीत किया। उनसे शिकायत लेकर जांच का आश्वासन दिया। करीब दो घंटे तक थाने में हंगामा करने के बाद ग्रामीण लौट गए।

ग्रामीणों ने लगाया गंभीर आरोप
कोनकोना की एक महिला ने बताया कि गांव के लोग पुलिस से युवकों को थाने में बंद करने का सबूत मांगने आये थे। गांव को देखकर थानेदार भड़क गए। लोगों को धक्का देकर बाहर निकाल किया। फोर्स बुलाकार पीटने की बात कही। इसके बाद विवाद शुरू हुआ।

- थाने पहुंचने वाले लोगों से थानेदार केएन तिवारी के अभद्र व्यवहार की शिकायत मिली है। उन पर गंभीर आरोप शिकायत दी है। इसकी जानकारी वरिष्ट अफसरों को दी गई है। उनके खिलाफ विभागीय जांच कर कार्रवाई की जाएगी- संदीप मित्तल, एसडीओपी, कटघोरा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned