scriptPolice could not prove the case of illegal liquor seizure of Rs 110 | ११० रुपए की अवैध शराब जप्ती के मामले को पुलिस पांच साल में कोर्ट में साबित नहीं कर सकी | Patrika News

११० रुपए की अवैध शराब जप्ती के मामले को पुलिस पांच साल में कोर्ट में साबित नहीं कर सकी

कोरबा. आबकारी के मामले कोर्ट में टिक नहीं पा रहे हैं। हर दूसरे मामले में आरोपी दोषमुक्त किए जा रहे हैं। इसके पीछे की मुख्य वजह विवेचना में कमी, साक्ष्यों का अभाव और गवाहों का आरोपियों को पहचानने से इंकार करना है। विवेचना में कमी, साक्ष्यों का अभाव, गवाह तक पहचानने से कर रहे इंकार

कोरबा

Published: May 20, 2022 11:51:08 am

घर, दुकान में देशी या महुआ शराब की ब्रिकी का मामला हो या फिर बाइक में शराब लेकर गांव-गांव जाकर बेचने का मामला हो। कार्रवाई करने के नाम पर चुस्त आबकारी विभाग और पुलिस कर्मी हर महीने ऐसे मामले पकड़ रहे हैं। आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा रहा है, लेकिन दोनों ही विभाग आरोपियों को सजा नहीं दिला पा रहे हैं। न्यायलयों में हर महीने औसतन तीन से चार केस में आरोपी दोषमुक्त करार किए जा रहे है। दरअसल कोर्ट में सुनवाई के दौरान आरोपी के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य तक प्रस्तुत नहीं किए जा रहे हैं। शराब जप्ती के दौरान जिन लोगों को साक्ष्य बनाया गया था वे कोर्ट में बयान दे रहे हैं कि उनसे जप्ती पत्र में सिर्फ हस्ताक्षर कराए गए थे, शराब किसके पास से जप्ती हुआ इसे उसने नहीं देखा। कोर्ट द्वारा लगातार ठोस साक्ष्य करने का मौका देने के बाद भी जब पुलिस और आबकारी विभाग साक्ष्य प्रस्तुत नहीं कर पाते हैं तो प्रकरण में आरोपी को लाभ मिलना तय है।
विवेचना में कमी, साक्ष्यों का अभाव, गवाह तक पहचानने से कर रहे इंकार
विवेचना में कमी, साक्ष्यों का अभाव, गवाह तक पहचानने से कर रहे इंकार
बीते 19 दिन में इन मामलों में आरोपी हुए दोषमुक्त
केस 01
पुलिस ने दर्री निवासी दिलीप सिंह ३५ वर्ष को रुमगरा के पास १६ पाव देशी शराब के साथ 27 जुलाई 2019 को गिरफ्तार किया था। मामले में आरोपी के खिलाफ ठोस साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किए जाने की वजह से धारा 34 (१) क से दोषमुक्त किया गया।

केस 2
पताढ़ी निवासी शंकर दयाल 27 वर्ष को 10 लीटर महुआ शराब के साथ पकड़ा गया था। उसके खिलाफ धारा 34 (२) के तहत कार्रवाई की गई थी। आबकारी विभाग ने जिस क्रेता को भेजकर आरोपी को पकड़वाया, उसे विभाग ने गवाह ही नहीं बनाया। गवाह के अभाव में दोषमुक्त कर दिया गया।

केस 03
बेलगरी बस्ती निवासी महेत्तर उंराव 60 वर्ष को 30 मई 2019 को 17 पाव देशी शराब के साथ पकड़ा गया था। कई मौके देने के बाद साक्ष्य प्रस्तुत नहीं करने की वजह से कोर्ट ने आरोपी को 34 (१) से दोषमुक्त किया गया।

केस 04
कनबेरी के विनोद कुमार को 17 दिसंबर 20 को 4 लीटर महुआ शराब के साथ पकड़ा गया था। कोर्ट में गवाह के बयान में विरोधाभाष होने की वजह से साबित नहीं हो सका। इसका फायदा आरोपी को मिला।

केस 05
छुरी के श्याम लाल केंवट को मात्र दो लीटर महुआ शराब के साथ 12 अक्टूबर 18 को पकड़ा गया था। कोर्ट में कई मौके देेने के बाद साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किए जा सके। जिन दो गवाह के बयान लिए गए थे उनके कथन भी समर्थन नहीं करने से आरोपी को दोषमुक्त किया गया।

केस 06
जेंजरा की 30 वर्षीय कुसुम बाई को 8 फरवरी 2017 को सिर्फ दो लीटर महुआ शराब के साथ पकड़ा गया था। 34 (२) के तहत गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट में आबकारी विभाग ने ऐसा कोई साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किया गया जिससे उसपर लगा आरोप साबित हो सके।

केस 07
कनबेरी के सुनील लहरे को दो लीटर महुआ शराब के साथ 20 फरवरी 2015 को पकड़ा गया था। इसकी कीमत महज 110 रुपए थी। जप्ती के दौरान जप्ती पत्र में जिन लोगों को साक्ष्य के तौर पर हस्ताक्षर कराया गया। उन्होनें जप्ती कहां से हुआ इसकी जानकारी नहीं दे पाए। लिहाजा कोर्ट ने सुनील को दोषमुक्त कर दिया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मंत्रिमंडल विस्तार पर दिया बड़ा बयान, विदर्भ के विकास को लेकर भी कही यह बातएमपी के इन दो शहरों में हो सकता है G 20 शिखर सम्मेलन, शुरु हुई आयोजन की तैयारियांUdaipur kanhaiya lal Murder: चिकन शॉप से खुलेंगे कन्हैया हत्याकांड के राज...!सुपरटेक ट्विन टावर गिरने से आसपास नहीं होगा नुकसान, कंपनी ने तैयार किया खास प्लानदूल्हे भगवान जगन्नाथ को नहीं लगे नजर, पट हुए बंददूरियां कितनी हुई कम, एक ही दिन में बीजेपी के दो बड़े नेता अलग अलग समय पर पहुंचे कन्हैयालाल के घरPresident Election 2022 : पटना में द्रौपदी मुर्मू ने NDA के नेताओं से मांगा समर्थन, सीएम नीतीश से की मुलाकात, गुवाहाटी के लिए हुई रवानाभारी बारिश से मध्य प्रदेश में बाढ़ ही बाढ़, इन राज्यों से संपर्क टूटा, पुल से डेढ़ फीट ऊपर बह रही नदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.