एसईसीएल के कोयला उत्पादन व परिवहन पर रेलवे की नजर, 50 से 55 रैक कोयला परिवहन पर दिया जोर

Railway News: रेलवे बोर्ड के अतिरिक्त ट्रैफिक मेम्बर एसके मिश्रा एसईसीएल सीएमडी के साथ पहुंचे कुसमुंडा व गेवरा, कोल साइडिंग का किया निरीक्षण

By: Vasudev Yadav

Published: 01 Mar 2020, 12:27 PM IST

कोरबा. एसईसीएल की कोयला खदानों से आने वाले दिनों में होने वाले उत्पादन के परिवहन पर रेलवे की भी नजर है। शनिवार को रेलवे बोर्ड के अतिरिक्त ट्रैफिक मेम्बर एसके मिश्रा, एसईसीएल सीएमडी एपी पंडा के साथ कुसमुंडा व गेवरा पहुंचे। दोनों अधिकारियों ने रेल साइडिंग और साइलो का निरीक्षण किया। परिवहन बढ़ाने की रणनीति तैयार की।

बताया जाता है कि आने वाले दिनों में एसईसीएल की मेगा प्रोजेक्ट कुसमुंडा, गेवरा और दीपका से कोयले का उत्पादन बढ़ाना है। इस कोयले के परिवहन के लिए अभी से रणनीति तैयार की जा रही है। रेल कॉरिडोर पर रेलवे की नजर है। शनिवार को ट्रैफिक मेंबर ने सभी पहलुओं पर सीएमडी के साथ चर्चा की। भविष्य में रेलवे रैक से कोयला परिवहन 50 से 55 रैक करने पर जोर दिया। वर्तमान में कोयला परिवहन लगभग 40 से 45 रैक रोजाना होता है।

Read More: मुड़ापार बाजार के करीब मछली के थोक कारोबारी से साढ़े सात लाख की लूट, मचा हड़कंप

शनिवार की सुबह रेलवे बोर्ड के अधिकारी एडिशनल मेम्बर ऑफ ट्रैफिक एसके मिश्रा व एसईसीएल सीएमडी एपी पंडा सड़क मार्ग से दीपका पहुंचे। गेवरा स्थित एसईसीएल के जूनाडीह कोल साइडिंग, साइलो और कुसमुंडा साइडिंग का भी निरीक्षण किया। रेलवे बोर्ड के अधिकारी व एसईसीएल अधिकारी के मध्य बैठक हुई। इस दौरान कोयला परिवहन पर जोर देने को लेकर चर्चा हुई। वर्तमान में रेल मार्ग से कोयला ढुलाई पर आई कमी पर भी दोनों अधिकारियों के बीच चर्चा हुई। इस दौरान कुसमुंडा, गेवरा, दीपका सहित अन्य एरिया के महाप्रबंधक और एसईसीएल के अधिकारी भी उपस्थित थे।

Read More: चैतमा पेट्रोल पंप के पास बस चालक ने ऑयल टैंकर को मारी ठोकर, छह महिला यात्री के साथ दो अन्य घायल

रेल संघर्ष समिति ने सांसद को कराया अवगत
इधर रेल संघर्ष समिति के सदस्यों ने सांसद को रेलवे द्वारा यात्री सुविधाओं के साथ की जा रही उपेक्षा से अवगत कराया है। साथ ही कोरबा से बिकानेर और गेवरारोड से राउरकेला तक टे्रन सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की है। इस संबंध में ने सांसद ज्योत्सना महंत ने समिति की मांग व रेलवे द्वारा यात्री सुविधाओं की उपेक्षा को लेकर रेल मंत्री को अवगत कराने का आश्वासन दिया है। साथ ही टे्रनों को बाधित किए जाने को लेकर बिलासपुर रेलवे अधिकारी से चर्चा करने का आश्वासन दिया है।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned