शहर की बजाय ग्रामीण क्षेत्रों की मिठाई दुकानों में लिए सेंपल

Rajkumar Shah

Publish: Oct, 12 2017 08:32:34 (IST)

Korba, Chhattisgarh, India
शहर की बजाय ग्रामीण क्षेत्रों की मिठाई दुकानों में लिए सेंपल

खाद्य सुरक्षा विभाग ने पाली के दो मिष्ठान दुकानों से लिया सेंपल, शहर के बड़े मिष्ठान दुकानों में जांच करने से पीछे हट रहे अफसर

कोरबा. खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन विभाग शहर के बड़े मिष्ठान दुकानों से सेंपलिंग करने की बजाए ग्रामीण क्षेत्रों के छोटे दुकानों से मिठाई की नमूने लेने में व्यस्त है।

गुरुवार को पाली के दो छोटे मिठाई दुकानों से सैपलिंग की गई। ऐसे मेंं विभाग सिर्फ खानापूर्ति करने में लगा हुआ है।


एक सप्ताह बाद दीपावली है। शहर में दो दर्जन से ज्यादा छोटे बड़े मिष्ठान भंडार हैं। जहां से हमेशा मिलावट वाली मिठाईयों की शिकायत विभाग को मिलती भी है। जांच में कई बार यह पुख्ता भी हो चुका है।

औसतन एक मिठाई दुकान से प्रतिदिन 15 से 20 किलो मिठाई सामान्य दिनों में बिक्री होती है जबकि त्योहारी सीजन में यह तीन गुना तक बढ़ जाता है। शहर में दूध, खोवा की मात्रा सीमित है। सीजन में भी 100 शुद्ध मिठाई का टेग लगा कर लोगों के सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।

इसकी जानकारी खाद्य सुरक्षा विभाग को अच्छी तरह से है। सीजन में विभाग को सैपलिंग करने के निर्देश शासन से मिले थे। लिहाजा विभाग ने सेंपलिंग तो शुरू की लेकिन शहर और उपनगरीय क्षेत्रों को छोड़कर पाली व कटघोरा क्षेत्र में सेंपलिंग की जा रही है।

गुरुवार को पाली के राज स्वीट्स और सिम्मी डेली नीड्स से मिठाई के सेंपल लिए गए। इस दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारी आर आर देवांगन समेत अन्य शामिल थे।


अभी ले रहे सेंपल, रिपोर्ट आएगी दीवाली के बाद- त्योहार शुरू होने के चंद दिन पहले शुरू की गई सेंपलिंग की रिपोर्ट दीवाली के बाद आएगी। ऐसे में मिलावटी मिठाई लोग खा भी चूकें। ऐसे में जरूरी है कि एक लैब कोरबा शहर मेंं भी खोला जाए ताकि प्राथमिक तौर पर मिलावटी की जानकारी हो जाएं। रिपोर्ट के लिए सेंपल हमेशा रायपुर भेजी जाती है।


मिठाई का सेंपल लिया गया- पाली से दो मिष्ठान भंडार से मिठाई का सेंपल लिया गया है। शहर के भी दुकानों में सेंपलिंग जल्द की जाएगी।
-आरआर देवांगन, खाद्य सुरक्षा अधिकारी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned