scriptShocking Doctor removed kidney of the patient instead of stone | OMG! पथरी निकलवाने गए मरीज की फर्जी डॉक्टर ने न‍िकाली किडनी, 10 साल बाद हुआ खुलासा | Patrika News

OMG! पथरी निकलवाने गए मरीज की फर्जी डॉक्टर ने न‍िकाली किडनी, 10 साल बाद हुआ खुलासा

Fake Doctor Caught: छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक फर्जी डॉक्टर की गंभीर लापरवाही का मामला सामने आया है। जहां फर्जी डॉक्टर ने पथरी का इलाज पहुंचे मरीज की किडनी निकाल ली। किडनी निकालने के 10 साल पुराने मामले में पुलिस ने कथित डॉक्टर के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है।

कोरबा

Published: February 13, 2022 07:59:38 pm

कोरबा. Fake Doctor Caught: छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक फर्जी डॉक्टर की गंभीर लापरवाही का मामला सामने आया है। जहां फर्जी डॉक्टर ने पथरी का इलाज पहुंचे मरीज की किडनी निकाल ली। किडनी निकालने के 10 साल पुराने मामले में पुलिस ने कथित डॉक्टर के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। कथित डॉक्टर फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।
operation theater , file pic
OMG! पथरी निकलवाने गए मरीज की फर्जी डॉक्टर ने न‍िकाली किडनी, 10 साल बाद हुआ खुलासा
बताया जाता है कि कोरबा शहर में रहने वाले संतोष गुप्ता के पेट में पथरी थी। दर्द होने पर संतोष ने वर्ष 2012 में रजगामार रोड पर स्थित सृष्टि मेडिकल कॉलेज ऑफ इंस्टिट्यूट में डॉ. एसएन यादव से इलाज कराया। डॉक्टर ने किडनी में पथरी होने की जानकारी दी। संतोष को ऑपरेशन कराने की सलाह दिया। डॉक्टर ने संतोष का ऑपरेशन किया। अस्पताल से छुट्टी मिलने पर संतोष घर पहुंच गए। सेहत में सुधार नहीं हुआ। संतोष ने सोनोग्राफी कराया। इसमें पता चला कि उसकी एक किडनी निकाल ली गई है।
मरीज ने घटना की शिकायत कोरबा के तत्कालीन कलेक्टर और जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से किया। मामले की जांच चल रही थी। 10 साल बाद प्रमाणित हुआ कि डॉक्टर एसके यादव की एमबीबीएस और मास्टर ऑफ सर्जन डिग्री फर्जी है। डॉक्टर की डिग्री फर्जी होने की पुष्टि छत्तीसगढ़ मेडिकल काउंसिल ने की है। यह जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। फर्जी डॉक्टर पर कार्रवाई के लिए पुलिस को लिखा गया।
संतोष की रिपोर्ट पर पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ आईपीसी की धारा 419 (जाली डिग्री से छल पूर्वक इलाज) और 420 (मरीज से धोखाधड़ी) का केस दर्ज किया है। इधर, सृष्टि मेडिकल कॉलेज ऑफ इंस्टीट्यूट की ओर से बताया गया कि डॉक्टर यादव की गतिविधियों के बारे में जानकारी होने पर उसे कॉलेज से हटा दिया गया था। फर्जी डॉक्टर कहां है? इसकी जानकारी प्रबंधन को नहीं है। घटना को लेकर पत्रिका ने फर्जी डॉक्टर से सम्पर्क करने की कोशिश किया। लेकिन उसका नंबर बंद आया। पुलिस का कहना है कि फर्जी डॉक्टर के बारे में पतासाजी की जा रही है। जल्द ही उसे गिरफ्तार किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

पीएम नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय शैक्षिक समागम का किया उद्धाटन बोले नई शिक्षा नीति मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रहीBritain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीMaharashtra Cabinet: कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभागVideo: पुलिस जीप में हंसता हुआ आराम से बैठा, हाथों से किए इशारे, सलमान का एक और वीडियो वायरलभारत ने श्रीलंका को तीसरे वनडे में 39 रन से हराया, 3-0 से क्लीन स्वीप कर रचा बहुत बड़ा इतिहासWest Bengal: TMC के 3 पंचायत नेताओं की बेरहमी से हत्या, हमलावर मौके से फरारMaharashtra: सपा विधायक अबू आजमी को जान से मारने की धमकी देने के मामले में मुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, पुणे से दो आरोपी गिरफ्तारKaali Poster Row: विवाद के बीच CM ममता बनर्जी का बड़ा बयान, महुआ मोइत्रा को दी नसीहत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.