scriptsome do not take the injured to the hospital for fear of going around | किसी को गाड़ी के गंदी होने की चिंता तो कोई पुलिस के चक्कर लगाने के डर से घायलों को नहीं ले जाते अस्पताल | Patrika News

किसी को गाड़ी के गंदी होने की चिंता तो कोई पुलिस के चक्कर लगाने के डर से घायलों को नहीं ले जाते अस्पताल

कोरबा. भागदौड़ भरी जिंदगी में घायल व्यक्ति को सड़क पर पड़ा होकर चले जाते हैं। किसी को गाड़ी के गंदी होने की चिंता है तो कोई पुलिस के चक्कर लगाने के डर से घायलों को तत्काल अस्पताल तक नहीं लेकर जाते। ऐसे नेक लोग जो घायलों को गोल्डन टाइम में अस्पताल लेकर पहुंचते हैं उन्हें पांच हजार रुपए का इनाम निर्धारित है, लेकिन योजना के एक साल बाद भी जिले में एक भी नेक लोग विभाग को नहीं मिले।

कोरबा

Published: September 09, 2022 06:10:17 pm

परिवहन विभाग द्वारा आपातकालीन स्थिति में सड़क दुर्घटना पीडि़तों की मदद करने और दूसरे घायलों के जीवन बचाने के लिए आम जनता को प्रेरित करने के उद्देश्य से योजना संचालित की जा रही है। योजना का नाम मोटर गाड़ी से दुर्घटना के महत्वपूर्ण पहले घंटे के दौरान दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को आवश्यक चिकित्सकीय उपचार प्रदाय करने के लिए अस्पताल अथवा आपातकालीन देख-भाल केन्द्र पहुंचाने संबंधी त्वरित व्यवस्था कर जीवन बचाने वाले नेक सहयोगी को पुरस्कृत किए जाने हेतु अनुदान योजना है। इसके तहत प्रत्येक नेक व्यक्ति के लिए पुरस्कार की राशि 5 हजार रूपए प्रति घटना के हिसाब से निर्धारित है। अकसर ये देखने को मिलता है कि समय पर अस्पताल नहीं पहुंचने की वजह से घायल की मौत हो जाती है। लोग सड़क पर घायलों को देखने के लिए नहीं रुकते। कुछ लोग डायल ११२ को फोन कर सूचना दे देते हैं, लेकिन डायल ११२ के आते तक घायल को अस्पताल पहुंचाया जा सकता है। भीड़ तमाशबीन बनी रहती है, लेकिन अपनी जिम्मेदारी से बचती है।
korba road accident
korba road accident
हादसे के बाद पहला घंटा सबसे महत्वपूर्ण
गंभीर दुर्घटना के बाद की एक घंटे की समयावधि, जिसके दौरान तत्काल चिकित्सकीय देख-भाल प्रदान करके मृत्यु को रोकने की उच्चतम संभावना होती है, वह गोल्डन अवर कहलाता है। ऐसी आपातकालीन स्थिति में गोल्डन अवर के दौरान दुर्घटना से पीडि़त लोगों को मदद की बहुत ही आवश्यकता होती है। इस योजना के तहत ऐसा कोई भी व्यक्ति पात्र होगा, जिसमें मोटर गाड़ी से दुर्घटना ग्रस्त हुए व्यक्ति को पहले घंटे के भीतर चिकित्सा उपचार प्रदान कराकर एक दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति की जान बचाई हो। योजना के तहत नेक व्यक्ति के चयन के लिए जिला स्तर पर गठित मूल्यांकन समिति में संबंधित जिले के जिला मजिस्ट्रेट, एसएसपी, सीएमओ तथा आरटीओ (परिवहन विभाग) शामिल होते हैं।
इस तरह मिलता है लाभ
यदि नेक व्यक्ति द्वारा सड़क दुर्घटना की सूचना पुलिस को दी जाती है, तो डॉक्टर से विवरण की पुष्टि के बाद पुलिस नेक व्यक्ति को आधिकारिक लेटर पैड पर नेक व्यक्ति के नाम, उसके मोबाइल नम्बर और पता, स्थान, दुर्घटना का दिनांक व समय और कैसे नेक व्यक्ति ने पीडि़त का जान बचाने में मदद की है आदि का उल्लेख करते हुए एक पावती प्रदान करेगी। यदि नेक व्यक्ति पीडि़त को सीधे अस्पताल ले जाता है, तो अस्पताल समस्त जानकारी संबंधित थाने को देगा। विवरण की पुस्टि के बाद पुलिस नेक व्यक्ति को आधिकारिक लेटर पैड पर नेक व्यक्ति के नाम, उसके मोबाइल नम्बर और पता, स्थान, दुर्घटना का दिनांक व समय और कैसे नेक व्यक्ति ने पीडि़त का जान बचाने में मदद की है।
कई परिवारों का एक ही मलाल, काश समय रहते मिल जाता इलाज
एक तरफ लोग सड़क हादसे के बाद तमाशबीन बने रहते हैं, गोल्डन अवर में घायल को अस्पताल लेकर नहीं जाते। तो दूसरी तरफ ऐसे बहुत सारे परिवारों को मलाल है कि काश उनके परिवार के सदस्य को हादसे के बाद समय रहते इलाज मिल जाता।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

वायु सेना छोड़ राजनीति में आए झारखंड के पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए भरा नामांकनलोन लेना हुआ महंगा, RBI ने लगातार चौथी बार 0.50 फीसदी बढ़ाया रेपो रेट, ज्यादा चुकाना होगी EMIअरविंद केजरीवाल का चौंकाने वाला दावा! अब राघव चड्ढा होंगे गिरफ्तारकांग्रेस आलाकमान ने दिखाए सख्त तेवर, गहलोत-पायलट खेमे को लेकर लिया ये बड़ा फैसलादिग्विजय नहीं भरेंगेे नामांकन, कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी पर संशय बरकरारएक माह में ही काबुल में एक और भीषण आतंकी हमला, निशाने पर शिया-हजारा समुदाय, दो दर्जन से अधिक छात्रों की हत्यारेलवे ने शुरू की अच्छी सर्विस, अब ट्रेन में सोते समय नहीं छूटेगा आपका स्टेशन, जानिए कैसे मिलेगी जानकारीWeather Report: दिल्ली सहित इन राज्यों से विदा हुआ मानसून, जानिए इस वर्ष कितनी कम हुई बारिश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.